पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अलविदा जुमे की नमाज:कोरोना को लेकर घर में ही लोगों ने अदा की अलविदा जुमे की नमाज

सीतामढ़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लाॅकडाउन को लेकर मस्जिद में नहीं हो सकी नमाज

रमज़ान के आखिरी जुमे के अवसर पर मुस्लिम समाज के लोगों ने अलविदा जुम्मा का नमाज अदा किया। इस जुम्मा का विशेष महत्व है। रमज़ान के तीसरे भाग में अलविदा जुम्मा आता है। यह भाग जहन्नुम से निजात पाने का होता है। अल्लाह के नेक बंदे को रमज़ान के विदाई का चिंता सताने लगता है। उनके रहमत, मगफिरत और जहन्नम से आजादी दिलाने का बरकत महीने का समाप्त होने का अफसोस होने लगता है। कोरोना को लेकर अलविदा जुम्मा फीका रहा। पिछले वर्ष भी कोरोना को लेकर चहल पहल नहीं दिखाई दी थी।

वैसे इस दिन को छोटी ईद के रूप में मनाया जाता रहा है। बच्चे सुबह से ही उत्साहित रहते थे। नये नये कपड़े पहन मस्जिद में अलविदा की नमाज अपने अभिभावक के साथ अदा करते थे। मदरसा रहमानिया मेहसौल के पूर्व अध्यक्ष मो. अरमान अली ने बताया कि बच्चे भी घर पर ही नमाज पढ़ा। कोरोना को लेकर सम्पूर्ण लाॅकडाउन लगाया गया है। कई मुस्लिम संगठन घरों में नमाज अदा करने की अपील कर चुके है। इन संगठनों और मौलानाओं ने कोरोना से बचाव को लेकर सतर्क रहने को कहा है। चार पांच लोगों के अलावा घरों में इबादत करने की अपील की गई है।

खबरें और भी हैं...