मतगणना केंद्र पर लगी जीविका दीदी की रसोई:लोगों ने कहा- मजबूरी में खा रहे ऐसा खाना, बीमारी तय; जीविका दीदी बोली- 40 रुपए किलो वाला चावल दे रहे

सीतामढ़ी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जीविका दीदी के द्वारा लगाए स्टॉल पर खाने की शिकायतें भी लोग कर रहे हैं। - Dainik Bhaskar
जीविका दीदी के द्वारा लगाए स्टॉल पर खाने की शिकायतें भी लोग कर रहे हैं।

सीतामढ़ी जिले के दो प्रखंड बथनाहा और बोखड़ा का मतगणना चल रहा है। इसको लेकर कई तरह के व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा किया गया है। डीएम के आदेश पर मतगणनना केंद्र पर जीविका दीदी के द्वारा रसोई का स्टॉल लगाया गया है। जिसमें खाना और नाश्ता बिक्री की जा रहा है।

लेकिन जीविका दीदी के द्वारा लगाए स्टॉल पर खाने की शिकायतें भी लोग कर रहे हैं। स्टॉल पर राजमा चावल खा रहे सुनील कुमार और घनश्याम सिंह ने बताया कि एक तो महंगा खाना खिलाया जा रहा है और खाना की क्वालिटी भी सही नही है। लेकिन सुबह से भूखे हैं, मजबूरन खाना खा रहे हैं। कुछ लोगों द्वारा चावल परोसने वाली थाली में कीड़ा भी देखा गया है।

वहीं लिट्टी और समोसा खा रहे रंजीत सिंह, उमा राय, शिवशंकर महतो ने बताया कि यहां समोसा मार्केट से महंगा बेचा जा रहा है। लिट्टी और समोसा का साइज भी छोटा है। ऐसा खाना खाने के बाद तबियत खराब होना तय है।

इस बारे में पूछे जाने पर जीविका दीदी उषा कुमारी ने बताया कि वो बेहतर खाना दे रही हैं। 44 रुपए किलो वाला चावल दे रही हैं। सब मिलाकर 60 रुपया में राजमा-चावल एवम 7 रुपया में समोसा और 7 रुपया में लिट्टी बिक्री की जा रही है। कीड़ा देखे जाने के सवाल पर उन्होंने इनकार कर दिया।

खबरें और भी हैं...