पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिंहवाहिनी पंचायत:मुखिया का चुनाव नहीं लड़ेंगी रीतू, पति अरुण लड़ेंगे

सीतामढ़ी5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिंहवाहिनी पंचायत में महिलाओं के बीच रीतू जायसवाल। - Dainik Bhaskar
सिंहवाहिनी पंचायत में महिलाओं के बीच रीतू जायसवाल।
  • रीतू के पति अरुण कुमार आइआरएस अधिकारी रह चुके हैं, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली थी

प्रखंड की सिंहवाहिनी पंचायत की चर्चित मुखिया सह राजद के प्रदेश प्रवक्ता रीतू जायसवाल इस बार पंचायत चुनाव नहीं लड़ेंगी। इनके स्थान पर पति पूर्व आईआरएस पदाधिकारी अरुण कुमार इस बार के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मैदान में रहेंगे। बातचीत के क्रम में निवर्तमान मुखिया रितु जायसवाल ने बताया कि पांच वर्षों तक वह पंचायत की सेवा की है। अब उनका कार्यक्षेत्र परिहार विधान सभा व पूरा बिहार है। वह पार्टी के विभिन्न कार्यों को लेकर बाहर रहती है तथा जिसके कारण पंचायत की सेवा में कमी होने लगी है। पंचायत की जनता का मुझ पर पूरा भरोसा व विश्वास है। लोगों के विश्वास के सम्मान में इस बार मेरे पति पूर्व आईआरएस अरूण कुमार मैदान में हैं। रितु जायसवाल इस बार के विधान सभा चुनाव में राजद की प्रत्याशी थी। वो महज 1569 मत से पराजित हुई थी।

सेंट्रल विजिलेंस निदेशक पद से ली थी अनिवार्य सेवानिवृत्ति
निर्वतमान मुखिया रितु जायसवाल के पति अरुण कुमार आइआरएस पदाधिकारी रहे हैं। उन्होंने बताया कि वे 1995 बैच के पदाधिकारी हैं। पहली ज्वाइनिंग आर्डिनेंस फैक्ट्री नागपुर में किया था। उन्होंने 12 वर्ष पहले ही दिल्ली में सेंट्रल विजिलेंस निदेशक पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली। वे डिपार्टमेंट इन्क्वायरी में कमिश्नर के पद पर थे। उनके पिता सोनबरसा प्रखंड के प्रथम ग्रेजुएट रहे हैं और एरिगेशन डिपार्टमेंट में एकाउंटेंट की नौकरी छोड़कर खेती करना शुरू किया था। वे वर्तमान में यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करने वाले 240 छात्रों का मेंटरशिप कोर्स कराते हैं।

खबरें और भी हैं...