पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्यक्रम:संस्कार की खुशबू से सुरक्षित बिहार की माटी है, जहां उगते क्या डूबते की पूजा भी परिपाटी है... पर झूमे लोग

सीतामढ़ी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • छठ पर्व के अवसर पर आयोजित विराट हास्य कवि सम्मेलन में कवियों ने दी प्रस्तुति

शिवांगन पूजा समिति भिसा के तत्वावधान में विराट हास्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन विधान पार्षद रामेश्वर महतो, पूर्व विधायक सुनील कुमार कुशवाहा, आचार्य परिपूर्णानंद अवधूत व महंथ सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि टेंशन की इस युग में हास्य कवि सम्मेलन किसी संजीवनी से कम नहीं है। हंसने और हंसाने से शरीर की विकृतियां नष्ट होती है। शरीर में नई ऊर्जा का संचार होता है। हंसने से पूरे शरीर का व्यायाम होता है। उन्हाेंने कहा कि आधुनिकता के इस युग में इस तरह के कार्यक्रम का आयोजन समाज को एक नई दिशा दिखाता है।

खुला हास्य व्यंग्य का पिटारा लोट-पोट होते रहे सभी श्रोता

विराट कवि सम्मेलन का आगाम गीतकार गीतेश ने अपनी रचना “संस्कार की खुशबू से सुरक्षित सच में बिहार की माटी है उगते क्या डूबते की पूजा भी रही हमारी परिपाटी है...’’’’ से किया। गीतेश के मंच पर आते ही श्रोता दीर्घा से उत्साह की लहरे दौड़ने लगी। इन्होंने हास्य व्यंग्य की रचनाओं से नेता से लेकर परिवार की कुसंस्कृति पर कुठाराघात किया। कवियों ने एक से बढ़कर कविता पाठ कर लोगों को हंसाते रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें