पुलिस के डर से छत से कूदा युवक, टूटा पैर:सीतामढ़ी के सुप्पी में पुलिस को बनाया बंधक, बूथ पर किया था लाठीचार्ज

सीतामढ़ी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत से गिरकर घायल हुआ युवक और उसका भाई। - Dainik Bhaskar
छत से गिरकर घायल हुआ युवक और उसका भाई।

सीतामढ़ी के दो प्रखंडों सुप्पी और रीगा में पंचायत चुनाव की वोटिंग के दौरान पुलिस की मनमानी की तस्वीर देखने को मिली है। इसकी वजह से लोग मतदान के लिए घरों से निकलने में भी डरने लगे। इससे प्रत्याशियों में भी काफी आक्रोश है।

सुप्पी के छौरहिया गांव स्थित बूथ संख्या-110 पर बोगस वोटिंग की सूचना पर पहुंची पुलिस ने गांव में लाठिया बरसानी चालू कर दीं। इस वजह से कुछ देर के लिए छौरहिया गांव में अफरातफरी का माहौल बन गया। स्थिति बिगड़ी तो गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस को ही बंधक बना लिया। पुलिस और पब्लिक के बीच घंटों नोकझोक चलती रही।

आक्रोशित लोगों से बातचीत करते पुलिस अधिकारी।
आक्रोशित लोगों से बातचीत करते पुलिस अधिकारी।

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पुलिस बार-बार इसी बूथ पर लाठीचार्ज कर रही है। इसके बाद पहुंचे वरीय अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया। ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस अफवाह की सूचना पर पहुंची और अचानक लोगों को पीटने लगी। इसके बाद गांव की महिलाएं वोट देने जाने से डरने लगीं. बूथ लूट की घटना के बारे में तैनात मजिस्ट्रेट ललित कुमार ने बताया कि ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।

रीगा में पुलिस के डर से छत से कूदा युवक, टूटा पैर

इधर रीगा प्रखंड के इमली बाजार गांव में घर के बरामदे पर बैठे दो भाइयों को पुलिस ने खदेड़ कर पीटा। पुलिस के डर से दोनों युवक छत पर भाग गए. इसके पुलिस घर में घुसकर छत पर चढ़ी और वहां भी डंडे बरसाने लगी. डर से एक युवक छत से कूद गया। उसका पैर टूट गया. दोनों घायल युवकों को निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया। दोनों भाई कृष्ण नंदन ठाकुर और संजय ठाकुर हैं। कृष्ण नंदन ने बताया कि पुलिस ने गोली मारने की धमकी दी, तो डर के मारे छत से छलांग लगा दिया।

इल मामलों पर सदर डीएसपी रामाकांत उपाध्याय ने बताया कि पुलिस और पब्लिक में हल्की नोकझोंक हुई है। कोई बड़ी बात नहीं है।