सीतामढ़ी में छठ घाट बनाने गए दो बच्चे डूबे:दिवाली की शाम डूबे दोनों, नदी से निकाला गया एक का शव, दूसरे की तलाश जारी

सीतामढ़ी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जुटी हुई है। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जुटी हुई है।

सीतामढ़ी के डुमरा थाना क्षेत्र के परोड़ी पुल के नीचे गुरुवार शाम दो बच्चों की डूबने से मौत हो गई। आक्रोशित ग्रामीण शुक्रवार सुबह सड़क पर हंगामा करने लगे। सूचना मिलने पर स्थानीय थाना पुलिस भारी संख्या में घटनास्थल पर पहुंची। दोनों बच्चे नगर थाना क्षेत्र के शांति नगर मोहल्ले के रहने वाले हैं।

मृतकों की पहचान भोला चौधरी के 12 वर्षीय पुत्र रवि कुमार और संतोष चौधरी के 13 वर्षीय पुत्र शशि कुमार के रूप में हुई है। डूबे दोनों बच्चे एक ही घर के चचेरे भाई हैं। दोनों लड़के लक्ष्मणा नदी में छठ पूजा को लेकर घाट बनाने गए थे। इसी दौरान बच्चे नदी में नहाने चले गए, जिसके बाद गहरे पानी में जाने के कारण दोनों डूब गए।

घटना की जानकारी मिलते ही सैकड़ों ग्रामीण जुट गए। स्थानीय लोगों की मदद से एक का शव नदी से निकाला गया। दूसरा अभी भी लापता है। डुमरा CO चंद्र प्रकाश ने NDRF की टीम को बुलाकर दूसरे शव की खोजबीन शुरू कराई है। हालांकि, 18 घंटे बाद भी दूसरे शव को नदी से नहीं निकाला जा सका है। घटनास्थल पर दोपहर 1.30 बजे तक पुलिस कैंप कर रही है।

CO चंद्र प्रकाश ने कहा कि आपदा प्रबंधन के साथ जो भी सरकारी राशि है, मृतक के परिजनों को सहायता के रूप में दी जाएगी। लापता शव को जल्द बरामद कर लिया जाएगा। फिलहाल घटनास्थल पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जुटी हुई है। इलाके में अफरातफरी का माहौल है।

NDRF और गोताखोर लगातार लापता शव की तलाश में जुटे हुए हैं। इधर, परिजनों में कोहराम मचा है। पहले शव को घर में ही रखे हुए हैं। परिजनों का कहना है कि जब तक दूसरा शव नहीं मिलेगा, तब तक इसका दाह संस्कार नहीं करेंगे।