पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धावा दल ने अभियान:धावा दल ने साेनबरसा से तीन बाल श्रमिकों को किया विमुक्त

सीतामढ़ी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

धावा दल ने अभियान के तहत सोनबरसा प्रखंड के विभिन्न प्रतिष्ठानों में सघन जांच किया। इस दाैरान दाे प्रतिष्ठानों से कुल 3 बाल श्रमिकों को विमुक्त कराया गया। इसे लेकर धावा दल ने बाल एवं किशोर श्रम (प्रतिषेध एवं विनियमन) अधिनियम, 1986 के तहत संबंधित नियोजकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है। जबकि सभी विमुक्त बाल श्रमिकों को बाल कल्याण समिति, सीतामढ़ी के समक्ष उपस्थापित कर उन्हें बाल गृह में रखा गया है।

श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी मंदीप कुमार ने बताया कि बच्चों से प्रतिष्ठान में कार्य कराना बाल एवं किशोर श्रम प्रतिषेध एवं विनियमन के अंतर्गत गैर कानूनी है। कहा कि बाल एवं किशोर श्रम (प्रतिषेध एवं विनियमन) अधिनियम, 1986 के अंतर्गत बाल श्रमिकों से कार्य कराने वाले व्यक्तियों को 20 हजार रूपये से 50 हजार रूपये तक का जुर्माना और 2 वर्षों तक का कारावास का प्रावधान है। धावा दल की टीम में प्रदीप कुमार, मंदीप कुमार, आदित्य कुमार, सुरेश कुमार, शैलेन्द्र कुमार सिंह, मनीष कुमार, प्रथम संस्था के वीरेन्द्र कुमार शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...