पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनलॉक-3 की अनदेखी:मुख्य मार्ग पर दिन भर रेंगते रहे वाहन लगा रहा जाम, डिस्टेंसिंग का पालन नहीं

सीतामढ़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हॉस्पिटल रोड में लगा जाम। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं किया जा रहा था पालन। - Dainik Bhaskar
हॉस्पिटल रोड में लगा जाम। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं किया जा रहा था पालन।
  • सभी दुकानों के खुले रहने से बाजार में बढ़ी भीड़, संक्रमण का डर

अनलॉक-3 में दुकानों के खुले रहने की समय सीमा बढ़ाने से बाजार चहक उठा है। शहर की सड़कों पर वाहनों के साथ ही बाजार के खुले रहने से खरीददारी करने के लिए लोगों की भीड़ भी बढ़ गई है। इससे शुक्रवार को भीड़ के कारण शहर के कई स्थानों पर दिन भर जाम की स्थिति बनी रही। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन के प्रति लोगों की लापरवाही भी देखी गई। संक्रमण से बेफिक्र लोग खरीददारी व बिक्री करते देखे गए। संक्रमण के लिहाज से ग्राहक और कारोबारी दोनों लापरवाह बने हुए है। शाम 6 बजे तक दुकानों के खुले रहने के आदेश से शाम होते ही बाजार में ठसाठस भीड़ हो जाती है। शहर के कई स्थानों पर देर शाम 8 बजे तक दुकानें खुली रहती है। जिससे ग्राहकों की आवाजाही जारी रहती है। इससे शाम 7 बजे के बाद लगने वाले नाइट कर्फ्यू का असर नहीं देखने काे मिल रहा है। मेहसौल चौक, कारगिल चौक, जानकी स्थान, कोट बाजार समेत शहर के गुदरी बाजार व बड़ी बाजार के सब्जी मंडियों में भीड़ के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का तार-तार हो रहा है। जाम मुक्त कराने की दिशा में पहल करने की मांग | शुक्रवार को वाहनों की अधिकता से शहर के मुख्य मार्ग पर गाड़ियां रेंगती दिखीं। कई स्थानों पर स्लो-ट्रैफिक देखते-देखते जाम में बदल गई। इससे वाहनों के पहिये थम गए। डुमरा रोड में जाम में फंसे प्रिंस, रवि, शमशेर आदि ने कहा कि सरकार और जिला प्रशासन कोरोना से बचने के लिए सोशन डिस्टेंसिंग बनाये रखने की बात कहती है। लेकिन, ऐसी कोई व्यवस्था नहीं करती, जिससे लोग सोशल डिस्टेंस मेंटेन कर सकें। इस जाम में सोशल डिस्टेंस बनाये रखना नामुमकिन है। उन्होंने प्रशासन से शहर को जाम मुक्त कराने की दिशा में पहल करने की मांग की। ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन न हों और संक्रमण फैलने से राेकने में भी मदद मिल सके।

^कोविड-19 गाइडलाइन के तहत शहर में भीड़ की स्थिति उत्पन्न न हो, इसके लिए सभी चौक-चौराहों पर पुलिस बल की तैनाती की गई है। नाइट कर्फ्यू के लिहाज से संबंधित थानाध्यक्षों को क्षेत्र में गश्ती बढ़ाने का भी निर्देश दिया गया है।
-रामाकांत उपाध्याय, सदर डीएसपी, सीतामढ़ी।

राहत मिली है, खतरा टला नहीं है; गाइडलाइन का ध्यान रखना जरूरी
शहर के चश्मा व घड़ी व्यवसायी मो. सागिर व सचिन ने बताया कि शाम 6 बजे तक दुकानों के खुले रहने से राहत मिली है। लेकिन, अभी खतरा टला नहीं है। व्यापरियों और ग्राहकों दोनों को कोविड गाइडलाइन का ध्यान रखकर कारोबार करना चाहिए। इलेक्ट्रॉनिक कारोबारी दिनेश व दीपक कुमार ने बताया कि लॉकडाउन के कारण काफी नुकसान उठाना पड़ा है। दोबारा दुकानों के खुलने से व्यवसाय फिर से गति पकड़ रही है। वहीं, रेडिमेड व्यवसायी चुनचुन कुमार व कुणाल कुमार ने बताया कि प्रशासन के अनलॉक के आदेश से राहत मिली है। ग्राहकों के पहुंचने से बाजार गुलजार हो रहा है। लेकिन, लोगों की लापरवाही से संक्रमण बढ़ सकता है। उन्होंने व्यवसायी और आमलोगों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करने की अपील की।

खबरें और भी हैं...