भास्कर खास:दुर्घटना होते ही परिजनों को मिलेगी सूचना

अस्थावां21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्थावां में प्रोजेक्ट दिखा रहे विद्यार्थी। - Dainik Bhaskar
अस्थावां में प्रोजेक्ट दिखा रहे विद्यार्थी।
  • राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज अस्थावां के छात्रों के तीन मॉडल प्रोजेक्ट चयनित

राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज अस्थावां के छात्रों ने शिक्षाविदों के मार्गदर्शन में तीन समाजोपयोगी प्रोजेक्ट तैयार कर कॉलेज को राज्यस्तर पर पहचान दिलाई है। बिहार काउंसिल ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी में इनके मॉडल प्रोजेक्ट का चयन किया गया है। कॉलेज के प्राचार्य डा. आनंद कृष्ण ने चयनित प्रोजेक्ट के मॉडल को बनाने वाले छात्रों की टीम के साथ प्रोजेक्ट गाइड सौरभ कुमार एवं एसपीपी कोऑर्डिनेटर शेखर सुमन को बधाई दी है। कॉलेज के अंग्रेजी विषय के प्रोफेसर डा. प्रलयंकर सिंह ने बताया कि इस वर्ष बीसीटीएस द्वारा सिविल इंजीनियरिंग के छात्रों से प्रोजेक्ट मांगा गया था। 12 छात्र-छात्राओं ने चार-चार लोगों की टीम बनाकर तीन अलग-अलग प्रोजेक्ट पर कार्य किया। राज्य स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता के लिए तीनों प्रोजेक्ट का चयन कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि यदि राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भी इनके प्रोजेक्ट का चयन होता है तो राज्य सरकार की ओर से इन्हें तैयार करने वाले छात्रों को पुरस्कृत किया जाएगा। कॉलेज के प्राचार्य ने कहा कि कौशल विकास में तकनीकी शिक्षा की भूमिका अहम होती है।

प्रोजेक्ट- 1 : स्मार्ट इरिगेशन सिस्टम विद वाटरिंग इक्यूपमेंट प्रोजेक्ट में काम करने वाली टीम ने बताया कि इसकी खासियत है कि यह खेतों के नमी के अनुसार खुद ब खुद चालू व बंद हो जायेगा। जिससे पानी की बचत होगी। किसानों को सिंचाई में सुविधा होगी। इसकी मदद से किसान सिंचाई के साथ-साथ एक ही समय पर अन्य कृषि कार्य भी कर सकेंगे। इस टीम में शुभम सौरभ, राजीव रंजन कुमार, गौतम कुमार, पिंटू कुमार शामिल हैं।

प्रोजेक्ट- 2
आइडेंटिफिकेशन ऑफ़ रोड एक्सिडेंट विद इंस्टैंट मैसेज टू देयर फैमिली बनाने वालों ने कहा कि देश में प्रतिदिन औसतन 1374 रोड एक्सिडेंट होते हैं। जिसमे 400 से भी अधिक लोगों की जान चली जाती है। इस उपकरण की मदद से एक्सीडेंट के साथ ही सूचना उनके घर वालों को मिल जायेगी। जिससे घायल व्यक्ति को तुरंत चिकित्सीय सहायता उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी। इस टीम में सौरभ मिश्रा, सोनम कुमार,अं कित कुमार, रेशमी रंजन शामिल है।

प्रोजेक्ट- 3
इलेक्ट्रिक प्रोड्यूसर प्लास्टिक टाइल्स मॉडल बनाने वाली टीम ने कहा कि आज बिजली हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। इसी क्रम में हमारी टीम ने घर में लगने वाले प्लास्टिक टाइल्स से बिजली उत्पादन करने के प्रोजेक्ट पर कार्य किया, जो सफल रहा। टीम में स्नेहा कुमारी, बबली कुमारी, चांदनी कुमारी, मौसम कुमारी शामिल है। अपने साथी द्वारा बनाए गए मॉडल को राज्यस्तरीय पहचान मिलने पर छात्रों में हर्ष का माहौल है।

खबरें और भी हैं...