प्रशिक्षण:33054 बेटियां सीखेंगी जूडो-कराटे

बिहारशरीफ19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रानी लक्ष्मीबाई आत्मरक्षा प्रशिक्षण से बढ़ेगा बेटियों का आत्मबल

मनचलों को सबक सिखाने के लिए लड़कियों को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जाएगी। स्कूल आते-जाते परेशान करने वाले शोहदों को जूडो- कराटे से बेटियां सबक सिखाएंगी। जिले के उच्च माध्यमिक और उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालयों की लड़कियां अब आत्मरक्षा का गुर सीखेंगी। इन्हें रानी लक्ष्मीबाई आत्मरक्षा प्रशिक्षण के माध्यम से सेल्फ डिफेंस का गुर सिखाया जाएगा। जिले के 192 उच्च और उच्चतर विद्यालयों में पढ़ने वाली 33054 छात्राओं को आत्मरक्षा का गुर सिखाया जाएगा। वित्तीय वर्ष 2022-23 के तहत इन्हें 124 दिनों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसमें मार्शल आर्ट प्रशिक्षकों द्वारा 24 दिन तथा बालिका प्रशिक्षकों द्वारा 100 दिन का कराटे वूशु एवं ताइक्वांडो विधाओं का प्रशिक्षण सम्मिलित है। बिहार शिक्षा परियोजना के निदेशक असंगवा चुबा आओ ने जिला शिक्षा पदाधिकारी व कार्यक्रम पदाधिकारी को रानी लक्ष्मीबाई आत्मरक्षा प्रशिक्षण शुरू करने का निर्देश दिया है। जारी किए गए निर्देश में बताया गया है कि प्रशिक्षण के लिए राज्य स्तर से जिले के लिए 5 प्रशिक्षकों का चयन किया गया है।

40 दिनों तक मार्शट आर्ट की ट्रेनिंग : सुजीत कुमार, शत्रुधन कुमार, सत्यम कुमार, राम हृदय कुमार। एडीपीसी अर्जुन प्रसाद ने बताया कि वरीयता क्रम में पहला और दूसरा स्थान प्राप्त करने वाली छात्राएं प्रशिक्षक के रूप में कार्य करेंगी। सभी छात्राओं को लगातार 40 दिनों का मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण देंगी।

दो श्रेष्ठ बनेंगी ट्रेनर
बालिकाओं में से वरीयता क्रम में दो श्रेष्ठ परफॉर्मेंस करने वाली बालिकाओं का चयन किया जाएगा। उन्हें 05 दिनों का विशेष प्रशिक्षण देकर ट्रेनर बनाया जाएगा। डीईओ केशव प्रसाद ने बताया कि प्रशिक्षण से बालिकाएं विपरीत परिस्थितियों में भी साहस के साथ आत्मरक्षा कर सकेंगी।

खबरें और भी हैं...