नालंदा के कोरारी खंधा में मर्डर मामला:पुलिस का खुलासा- प्रेमी ने बहन को छोड़ा तो भाई ने गोली मार दी थी

नालंदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नालंदा जिले के हिलसा डीएसपी कृष्ण मुरारी ने शनिवार को प्रेस वार्ता का आयोजन कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने ने बताया कि 23 मई को नगरनौसा पुलिस को फजिलापुर के ग्रामीणों के द्वारा सूचना मिली थी कि गोरारी खंधा के पास एक युवक का सड़ा गला शव पड़ा हुआ है। जिसके बाद उसकी पहचान चंडी थाना क्षेत्र के नैली गांव निवासी शिवशंकर ठाकुर का पुत्र कौशल कुमार के रूप में किया गया।

अनुसंधान के क्रम में यह पाया गया कि मृतक कौशल ठाकुर चार-पांच महीने पहले फ़जिलापुर की लड़की नंदनी कुमारी उर्फ श्यामसुंदर कुमारी को अपने प्रेम जाल में फंसा कर चेन्नई लेकर चला गया था। वहीं पर उससे शादी भी कर लिया था। दो-तीन माह तक अपने पास रखने के बाद नंदनी कुमारी को कौशल ठाकुर के द्वारा छोड़ दिया गया। जिसके बाद वह घर आकर रहने लगी। इस घटना को लेकर नंदनी कुमार का भाई राजू कुमार कौशल ठाकुर की हत्या करने का योजना बनाने लगा।

क्योंकि इस बात को लेकर गांव में काफी बदनामी हो रही थी कि उसके बहन को ले जाकर छोड़ दिया गया। जिसके बाद उसने अपने दोस्त मुनचुन कुमार, अमरजीत पासवान एवं अकाश कुमार को विश्वास में लिया। इसके बाद चारों ने मिलकर कौशल ठाकुर की हत्या करने की योजना बनाई। राजू ठाकुर के द्वारा बर्थडे पार्टी में आने का झांसा देकर कौशल ठाकुर को 19 मई की संध्या को बुलाया गया। जिसके बाद सभी लोग खाने पीने लगे उसी बीच कौशल ठाकुर के ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिला दिया गया।

कुछ देर बाद ही कौशल ठाकुर बेहोश हो गया। इसके बाद राजू ठाकुर द्वारा देसी कट्टा से कौशल ठाकुर के सिर में गोली मार दी गई। साक्ष्य छुपाने के लिए कोरारी गांव के खंधा में ईट भट्टा के पास उसके शव को फेंक दिया।