• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Woman Started Beating As Soon As She Drank Milk, The Mother Said Run Away Son Or Else You Will Also Take Your Life

मां बोली-बेटा भाग वरना तेरी भी जान ले लेंगे:बेटे ने सुनाई हत्या की कहानी, बोले-दूध पीते ही मां की शुरू की पिटाई

नालंदा7 महीने पहले
मृतिका की फाइल फोटो।

नालंदा में आधा ग्लास दूध के लिए मंगलवार की रात एक विवाहिता की हत्या उसके ससुराल वालों ने कर दी। महिला के 10 साल के बेटे के सामने ही यह घटना हुई। बेटे ने अपनी आपबीती सुनाई। बच्चे ने कहा-'अगर मां ना होती तो मेरी भी हत्या हो जाती। मां की जब चाचा-चाची पिटाई कर रहे थे तो उसने ही मुझे कहा-भाग जा बेटा, वरना तुझे भी मार डालेंगे। मैं वहां से भागकर ननिहाल पहुंचा। वापस नाना संग घर आया तो मां की लाश मिली।'

दरअसल, मामला मंगलवार की रात नालंदा मानपुर थाने के गोंगड़ी गांव का है। आधे ग्लास दूध के लिए ससुराल वालों ने बहू रिंकू देवी (26) की हत्या कर दी थी। उसके 10 साल के बेटे ने अपने नाना को बताया कि पापा, चाचा, चाची, दादी मिलकर मां की पिटाई कर रहे हैं। लड़की के परिवार वाले जब तक पहुंचे वो मर चुकी थी।

अमित अपनी बहन, नाना और नानी के साथ।
अमित अपनी बहन, नाना और नानी के साथ।

मृतका रिंकू देवी के 10 साल के बेटे अमित कुमार ने बताया कि 'मंगलवार की शाम उसकी मां खेत से काम कर घर लौटी थी। इसके बाद उसकी मां ने घर में रखा थोड़ा सा दूध पी लिया। तभी उसके चाचा मंटू यादव ने उसकी मां के साथ गाली गलौज शुरू कर दी। कुछ देर बाद पिता बबलू यादव भी खेत से घर लौटे और खाना खाने लगे। कुछ देर में फिर से घर में गाली गलौज शुरू हो गया। इसी बीच उसकी मां को उसके चाचा और घर के अन्य लोगों ने पीटना शुरू कर दिया।'

अमित ने बताया- 'लाठी डंडे से मार खा रही मां ने उसे घर से भाग जाने को कहा, नहीं तो उसकी भी हत्या कर दी जाएगी। इसके बाद वह वहां से भागा और साइकिल से अपने ननिहाल पहुंच गया। अपने नाना भूषण यादव को घटना की जानकारी दी। अमित कुमार की छोटी बहन अनुष्का कुमारी पहले से ही अपने नाना-नानी के पास ही थी।'

घटना के बाद परिजन।
घटना के बाद परिजन।

रिंकू देवी के बेटे अमित कुमार ने अपने चाचा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि वो आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं। हमेशा अपने साथ बंदूक और चाकू रखते हैं। यही वजह है कि गांव में कई लोगों से उसके चाचा की लड़ाई चलती है। घटना वाले दिन भी उसके पिता को हथियार दिखा कर चुप रहने की धमकी दे रहे थे। उसकी मां की चाचा मंटू यादव, चंदन यादव, हाकिम कुमार उसके दादा, दादी और चाची ने मिलकर लाठी से गला घोंट हत्या कर दी।

भूषण यादव को अब अपने 10 साल के नाती और 5 साल की नातिन के भविष्य की चिंता सता रही है। इधर, शव को बुधवार को बाढ़ के उमानाथ घाट पर ससुराल के रिश्तेदार की मौजूदगी में पति द्वारा मुखाग्नि दिलवाई गई। इधर, मानपुर थाना अध्यक्ष मुकेश कुमार ने बताया कि पति समेत 7 लोगों के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज कर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

आधा ग्लास दूध के लिए बहू की हत्या