निर्देश जारी:आवास योजना के तहत 80 हजार मकान बनेंगे

नवादा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 77 हजार 798 लाभुकों को दी गई है योजना की स्वीकृति, प्रथम किस्त में मिलता है 45 हजार

डीएम यश पाल मीणा के निर्देश के आलोक में एडीएम उज्जवल कुमार सिंह ने कलेक्ट्रेट के सभागार में प्रिंट और इलेक्ट्राॅनिक मीडिया के प्रतिनिधियों को विभिन्न योजनाओं के प्रगति के संबंध में प्रेस वार्ता किए। उन्होंने बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित 67वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा के संचालन से संबंधित सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं के बारे में अवगत कराए। बताया कि सभी परीक्षा केन्द्रों पर पांच स्तरीय दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। केन्द्राधीक्षकों को निर्देश दिया गया है कि बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा जारी किए गए निर्देशों को लगातार माईकिंग के माध्यम से प्रसारित करते रहेंगे।
सात दिनों में 7860 लाभुकों को दिया गया है प्रथम किस्त
अपर समाहर्ता के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना और आकांक्षी जिला के संबंध में नीति आयोग द्वारा दिए गए विभिन्न योजनाओं के बारे में बिन्दुवार विस्तार से जानकारी दिए। उन्होंने कहा कि जिले में जिस व्यक्ति का पक्का मकान नहीं है, उनको प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। इसके लिए जिला में 80460 का लक्ष्य सरकार के द्वारा दिया गया है। इसमें से 77 हजार 798 लोगों को स्वीकृति दी गयी है। जिलाधिकारी के निर्देश के बाद अधिकारियों के द्वारा 30 अप्रैल 2022 से 7 मई 2022 के बीच प्रधानमंत्री आवास योेेेेेजना में काफी प्रगति हुई है।

इस अवधि में आवास की स्वीकृति 891, सत्यापित बैंक खाता के साथ स्वीकृति 1235, ऑर्डर सीट 5374, प्रथम किस्त 7860, द्वितीय किस्त 411 एवं तृतीय किस्त 14 लाभुकों को एक सप्ताह के अन्दर उपलब्ध करायी गई है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत प्रथम किस्त में लाभुकों को 45000 रूपए दिये जाते हैं। इस आवास को पूर्ण करने के लिए कुल 01 लाख 45 हजार लाभुक को दिया जाता है एवं उन्हें 95 दिनों तक मनरेगा के तहत मजदूरी भी उपलब्ध कराई जाती है।

नीति आयोग से मिली है 96 लाख रुपए
नीति आयोग के तहत जिला को कृषि प्रोसेसिंग के लिए 2 लाख रूपए,कृषि में ही विभिन्न मसालों के प्रोसेसिंग के लिए 14 लाख रूपए, पाॅली हाउस, सब्जियों और फ्रूट्स के लिए 10 लाख, शिक्षा में साईंस पार्क निर्माण के लिए 50 लाख, हेल्थ और भोजन के लिए 20 लाख रूपए प्रदान किए गए हैं। जल जीवन हरियाली अभियान के तहत मनरेगा मद से 1646 योजनाओं को पूर्ण किया गया है।

खबरें और भी हैं...