महालक्ष्मी राइस मिल में एसडीओ ने की छापेमारी:सही जांच से बड़े घपले होंगे उजागर

नवादाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मिल बंद कर बाजार से चावल खरीदकर जमा करने सहित कई आरोपों के बाद रजौली के एसडीओ आदित्य कुमार पीयूष ने रजौली में स्थापित गणेश लक्ष्मी राइस मील में छापेमारी की। वहां बॉयलर और डायर भी बंद पाया गया। इससे साफ जाहिर है उसना चावल तैयार करने के नाम पर स्थापित राइस मिल चालू हालत में नहीं है ।अगर मील चालू हालत में होते तो निश्चित तौर पर भूसे के ढेर वहां जरूर मिल जाता।

इस संबंध में पूछे जाने पर एसडीओ आदित्य कुमार पीयूष ने बताया कि मील मालिक ने उन्हें जांच के दौरान किसी प्रकार की कागजात नहीं दिखाई, जिससे साफ जाहिर है कि वह ऊंचे रसूख के कारण अपनी पैरवी में जुटा है। ताकि उसके विरुद्ध सही तरीके से जांच कर कार्रवाई नही की जा सके।

सच्चाई है कि गणेश लक्ष्मी राइस मिल रजौली सिरदला प्रखंड के धान उठाव कर चावल बनाने के रूप में प्रशासनिक स्तर पर पैक्सों से टैग किया गया है। जिस मिल के माध्यम से उसना चावल की आपूर्ति की जानी है। कई समाजसेवियों ने मिल मालिक के भय से नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि यह मिल कभी चालू हालत में नहीं था। जबकि 500 लॉट चावल जमा कर चुका है। निश्चित तौर पर चावल बाजार से खरीद कर जमा कराया गया है।

डीएम उदिता सिंह से भी इस मामले की सघन जांच कर कार्रवाई की मांग की गई। गणेश राइस मिल के माध्यम से घोर अनियमितता किए जाने के मामले को स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री से भी जांच कर कार्रवाई की मांग की है। ताकि भ्रष्टाचार पर लगाम लगाया जा सके।

खबरें और भी हैं...