लापरवाही:54 दिनों के बाद भी उत्तीर्ण बच्चों को नहीं मिला अंकपत्र

नवादाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिहार बोर्ड ने 34 दिनों में जारी कर दिया था 10वीं का रिजल्ट, सर्टिफिकेट के लिए भटक रहे छात्र

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा बीते 31 मार्च को रिकार्ड समय में 10वीं का रिजल्ट जारी किया गया है। बिहार बोर्ड द्वारा मैट्रिक परीक्षा सम्पन्न होने के 34 दिनों के भीतर परीक्षा परिणाम घोषित कर खूब वाहवाही लूटी गई। लेकिन रिजल्ट जारी होने के 54 दिनों के बाद भी अब तक उत्तीर्ण छात्रों को बिहार बोर्ड द्वारा अंकपत्र व सर्टिफिकेट उपलब्ध नहीं कराया गया है जिससे छात्रों में निराशा है तथा सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए स्कूलों का चक्कर लगा रहे हैं। जबकि इस अंतराल में मैट्रिक व इंटर का कंपार्टमेंटल परीक्षा भी सम्पन्न हो चुका है।

लिहाजा रिकार्ड समय में रिजल्ट जारी होने के बावजूद अभी तक अंक पत्र उपलब्ध नहीं कराए जाने पर अभिभावकों द्वारा सवाल खड़ा किया जा रहा है। यह स्थिति इंटरमीडिएट उत्तीर्ण छात्रों का भी है। इंटरमीडिएट का रिजल्ट 30 दिनों में 16 मार्च को ही जारी किया गया था। लेकिन 68 दिनों के बाद भी अंक पत्र नहीं मिला है। जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालयों के लिए न्यूनतम 80 सीट आवंटित किया गया है जिसमें 40 विज्ञान के लिए तथा 40 कला संकाय के लिए निर्धारित है।

53वें दिन तय हुआ है किस स्कूल में कितने बच्चों का होगा नामांकन| जिले के सभी पंचायतों के उत्क्रमित उच्च माध्यमिक स्कूलों में इसी वर्ष से इंटर की पढ़ाई शुरू हो जाएगी। इसके लिए एडमिशन की प्रक्रिया शुरू हो गई है और सभी स्कूलों को एडमिशन के लिए स्कूल कोड उपलब्ध करा दिया गया है तथा किस स्कूल में कितने विद्यार्थियों का एडमिशन लिया जाएगा इसके लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा सीट भी निर्धारित कर दिया गया है।

27 मई से होगा ऑनलाइन, मार्क्स के अनुसार मिलेगा पसंदीदा स्कूल
इंटर की पढ़ाई के लिए एडमिशन कब से शुरू होगा और कक्षाएं कब से शुरू होगी इस विषय पर स्पष्ट जानकारी किसी के पास नहीं है। एडमिशन के लिए ऑनलाइन की प्रक्रिया संभवत: 27 मई से शुरू होगी जिसके बाद ऑनलाइन की तिथि समाप्ति के पश्चात एडमिशन की प्रक्रिया शुरू होगी। इसमें कट ऑफ मार्क्स के आधार पर कम से कम तीन बार शेड्यूल जारी होगा। तथा ऑनलाइन करने वाले विद्यार्थियों को स्कूल आवंटित किया जाएगा। लिहाजा एडमिशन की प्रक्रिया लम्बी चलेगी। इस बावत प्रधानाध्यापक बताते हैं कि अंतिम जुलाई- अगस्त से पहले क्लास प्रारंभ होने की संभावना नहीं दिखती है। छात्र रौशन कुमार, रोहित कुमार, गौतम कुमार, पूजा कुमारी, सोनम भारती,स्नेहा कुमारी ने कहा कि रिजल्ट जारी करने में जो तत्परता दिखाई गई।

खबरें और भी हैं...