• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Nawada
  • It Is Not Good To Run Coaching Without Essay, Know Whether Some Coaching Has To Be Arranged For Children

अग्निपथ योजना के बवाल के बाद प्रशासन की कड़ी नजर:बिना निबंध के कोचिंग चलाना खैर नहीं, जानिए क्या कुछ कोचिंग में बच्चों के लिए करना है व्यवस्था

नवादा3 महीने पहले

नवादा में निबंधन प्रमाण पत्र के लिए आवेदन जमा करने वाले नवादा शहरी क्षेत्र के कोचिंग संस्थानों की स्थलीय जांच शुरू कर दी गई है। शुक्रवार की सुबह नौ बजे से अधिकारी कोचिंग संस्थान पहुंच कर जांच कर रहे हैं। डीएम के निर्देश पर गठित टीम संस्थान जाकर निर्धारित मापदंडों की जानकारी प्राप्त कर रहे हैं। जिला शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार चौधरी, सदर अनुमंडल पदाधिकारी उमेश कुमार भारती जांच कर रहे हैं।

बता दें कि पूर्व में कई संचालकों ने निबंधन प्रमाण पत्र के लिए आवेदन दिया है। उन आवेदनों के आलोक में स्थलीय जांच की जा रही है। कोचिंग संचालकों व शिक्षक से सरकार द्वारा निर्धारित मापदंड की जानकारी जुटाई जा रही है। कोचिंग संस्था की आधारभूत संरचना, बेंच/डेस्क आदि, पर्याप्त प्रकाशीय व्यवस्था, पेयजल की सुविधा, शौचालय की सुविधा, जल-मल निकासी और स्वच्छता सुविधाएं, अग्निशमन की व्यवस्था, आकस्मिक चिकित्सा सुविधा, साइकिल/वाहन की पार्किंग की सुविधा आदि की पड़ताल की जा रही है।

इधर सदर एसडीओ उमेश कुमार भारती ने कहे है कि सभी कोचिंग की जांच की जा रही है कई जगह पर कमी भी पाई गई है जो कमेटी बनाया गया उस कमेटी के अनुसार जो भी मापदंड होगा उसी अनुसार उचित कार्रवाई की जाएगी। सदर एसडीओ के द्वारा जांच के बाद कोचिंग संचालकों में भी हड़कंप मचा है। कई ऐसे कोचिंग संचालक है। जहां पर शौचालय मेडिकल सुविधा आदि की व्यवस्था नहीं है। अग्निपथ योजना के बाद प्रशासन की कड़ी नजर कोचिंग संचालक पर भी है।