पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • 18 Kids Died Due To Fire In Last 7 Days In Bihar From 27 April To 2nd March 2021

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बिहार में 6 दिन में जिंदा जले 19 मासूम:पछुआ हवा से भड़की आग उजाड़ रही मांओं की गोद; इसलिए संभलकर रहें...

पटनाएक महीने पहलेलेखक: राजेश कुमार
  • कॉपी लिंक
  • करोड़ों के नुकसान से भारी बच्चों की मौत का यह आंकड़ा
  • जितने जल मरे, उनसे कम नहीं उस जलन से जूझ रहे रोज

बिहार में चैत्र महीने की पछुआ हवा जानलेवा हो गई है। वहीं, सरकार के इंतजाम भी नाकाफी दिख रहे हैं। बिहार में पिछले छह दिनों में अलग-अलग हादसे में 19 मासूमों की आग में जलने ने मौत हो गई है। वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हादसों पर दुख जताया है। अररिया के हादसे को लोग अभी भूले भी नहीं थे कि शुक्रवार को बांका जिले के धोरैया में एक घर में आग लगने से तीन मासूम जिंदा जल गए। इससे इलाके में अफरातफरी का माहौल बन गया।

बांका में आग लगने से 3 बच्चों की मौत

होली जलाने में 3 मरे

28 मार्च यानी होलिका दहन के दिन गया जिले की मोराटाल पंचायत के राहुल नगर गांव में होलिका जलाने गए तीन बच्चे होलिका की चपेट में आने से जलकर मर गए। तीनों बच्चे अपने-अपने घर से थाली में पकवान रखकर परंपरा के अनुसार होलिका में आहुति देने के लिए पहुंचे थे। होलिका ने जब प्रचंड रूप धारण किया तो तीनों मासूमों को अपनी चपेट में ले लिया। तीनों की जान बच नहीं पाई।

होलिका दहन में 3 मासूम जल मरे

भुट्टे सेंक रहे 6 मासूम जिंदा जले

30 मार्च यानी होली के एक दिन बाद अररिया के पलासी के कवैया गांव में एक ही घर में खेल रहे 6 बच्चों की आग में जलने से मौत हो गई। मरने वाले सभी बच्चों की उम्र ढाई से 5 साल थी। सभी बच्चे झोपड़ीनुमा कमरे में भुट्टे सेंक रहे थे, तभी एक चिनगारी निकली और पास रखे पुआल के ढेर में घुस गई। आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और सभी बच्चों को अपनी चपेट में ले लिया।

एक साथ 6 बच्चों की जलकर मौत

बिजली के तार से आग में 3 मरे

29 मार्च यानी होली की रात भागलपुर के पीरपैंती में बिजली के तार से आग लगने के कारण एक ही परिवार के 3 बच्चे झुलस गए। तीनों में कोई बच नहीं पाया। मरने वालों में 2 बच्चियां और एक बच्चा शामिल था। अपने बच्चों को बचाने में उनके मां-बाप भी बुरी तरह झुलस गए थे, अभी तक उनका इलाज चल रहा है।

सिलेंडर फटने से आग में 3 की मौत

एक अप्रैल को मधुबनी के जयनगर में गैस सिलेंडर के फटने से 3 लोगों की मौत हो गई थी। खाना बनाने के दौरान हुए हादसे में मां-बेटी की सुबह में ही मौत हो गई थी। बाद में गंभीर रूप से घायल बेटे मयंक (8 साल) की भी PMCH में मौत हो गई थी। मृतक बेटी की उम्र 5 साल थी। इस हादसे में पड़ोस की एक महिला बुरी तरह झुलस गई थी।

ननिहाल गई 6 साल की बच्ची की मौत

एक अप्रैल को ही भोजपुर में ननिहाल घूमने आई एक 6 साल की बच्ची की आग में झुलसने से मौत हो गई थी। यह घटना बड़हरा थाना क्षेत्र के अभिराज टोला गांव में हुई थी। मरने वाली बच्ची उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के गहमर थाना क्षेत्र के हरकेशपुर गांव निवासी मंटू कुमार की 6 वर्षीया पुत्री अंशु कुमारी थी।

यहां आग से संपत्ति का नुकसान

  • इसके अलावा पिछले हफ्ते अगलगी की कई ऐसी घटनाएं भी घटीं, जिनमें जान का तो कोई नुकसान नहीं हुआ लेकिन लाखों की संपत्ति जलकर खाक हो गई। एक अप्रैल को गया जिले की शेरघाटी में एक कोल्ड स्टोरेज में भीषण आग लग गई। वहां सूखी लकड़ियां भारी मात्रा में रखी हुई थीं। सरसों तेल के कई कंटेनर भी रखे हुए थे।
  • एक अप्रैल को ही बेगूसराय के एक कार शोरूम में आग लगने से लाखों की संपत्ति जलकर खाक हो गई। आग बुझाने में दमकल की दो गाड़ियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। एक अप्रैल की ही शाम राजधानी पटना में जीरो माइल के पास एक कुर्सी गोदाम में आग लग गई। फायर ब्रिगेड की चार गाड़ियों ने मौके पर पहुंचकर आग बुझाई। आग रोलिंग मशीन से निकली एक चिनगारी की वजह से लगी थी।
  • 30 मार्च को पटना के मौर्या लोक के सामने हीरा-पन्ना पैलेस की बिल्डिंग के ऊपर होर्डिंग के फ्लैक्स में आग लग गई। यह आग AC के आउटर की गर्म हवा से लगी। फायर ब्रिगेड स्टेशन एक किलोमीटर के दायरे में था, इसलिए टीम तुरंत पहुंच गई और आग को फैलने से रोक दिया गया। फ्लैक्स की आग नीचे पहुंच जाती तो अरबों रुपए का नुकसान हो सकता था।
  • 30 मार्च को ही अररिया के ADB चौक स्थित यूनियन बैंक में अचानक आग लगने से लाखों के सामान जलकर खाक हो गए। आग लगने से बैंक में लगे कई उपकरण जल गए। आग शार्ट सर्किट से लगी थी।

कंट्रोल रूम की क्षमता बढ़ी, लोगों को जागरूक कर रहे - DG शोभा अहोतकर

अगलगी की इन घटनाओं पर फायर ब्रिगेड की DG शोभा अहोतकर का कहना है कि उनकी टीम प्रिवेंटिव कदम के साथ-साथ घटना होने पर तुरंत और तेजी से कदम उठा रही है। आग लगने की घटना की जानकारी मिलते ही एक तय समय के अंदर फायर ब्रिगेड की यूनिट वहां पहुंच जा रही है। अस्पताल से लेकर कई जगहों के फायर ऑडिट्स किए गए हैं। लोगों को जागरूक करने के लिए मॉक ड्रिल, नुक्कड़ नाटक और वर्कशॉप के जरिए झुग्गी-झोपड़ी से लेकर पंचायतों तक लोगों को जागरूक किया गया है। सभी कमांडेंट्स से डेली रिपोर्ट भी ली जा रही है। पटना स्थित कंट्रोल रूम की क्षमता को बढ़ा दिया गया है। 10 एक्स्ट्रा कर्मियों की तैनाती की गई है। पटना में भी सभी वार्ड पार्षद और बाजार समिति के सदस्यों के साथ मीटिंग की गई है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

और पढ़ें