पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आरा में गोलीबारी:पूर्व के विवाद में चिमनी भट्टा के मैनेजर को मारी गोली, 1 घंटे के भीतर ही बदले के लिए दूसरे पक्ष के युवक पर फायरिंग

भोजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
युवक की मौत के बाद बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
युवक की मौत के बाद बिलखते परिजन।

आरा शहर से सटे टाउन थाना क्षेत्र के इब्राहिम नगर गांव स्थित चिमनी भट्टे पर हथियारबंद अपराधियों ने चिमनी भट्टा मैनेजर को गोली मार दी। जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। मृतक को तीन गोली मारी गई है। वहीं घटना के महज एक घंटे के बाद ही बदले की प्रतिशोध में दूसरे पक्ष के एक युवक को भी गोली मार दी गई। पूर्व के विवाद में गोलीबारी हुई है।

गोलीबारी के बाद जांच में जुटी पुलिस।
गोलीबारी के बाद जांच में जुटी पुलिस।

घायल युवक पटना रेफर

दूसरे पक्ष के युवक को सिर मे गोली मारी गई है। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे इलाज के लिए शहर के बाबू बाजार स्थित निजी अस्पताल लाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसकी हालत को चिंताजनक देते हुए पटना रेफर कर दिया गया है। घटना की सूचना मिलते ही टाउन थानाध्यक्ष शंभू कुमार भगत अपने दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे परिजनों से घटना की जानकारी ली। इसके पश्चात व मामले की छानबीन में जुट गई है। मृतक मुफस्सिल थाना क्षेत्र के पिपरहिया गांव का रहने वाला है। मृतक मंतोष कुमार सिंह इब्राहिम नगर स्थित रमेश सिंह के चिमनी भट्टा पर मैनेजर के पद पर कार्य करता था। जबकि जख्मी दूसरे पक्ष का युवक उसी गांव का निवासी बावनबीर यादव है।

क्या बोले चिमनी भट्ठा के मालिक

चिमनी भट्टा के मालिक रमेश कुमार सिंह ने बताया कि लगभग एक वर्षों से गांव के ही एक एक व्यक्ति से पूर्व से विवाद चला आ रहा है। रविवार की सुबह करीब साढ़े तीन बजे जब मंतोष कुमार सिंह चिमनी भट्ट पर अपने तीन साथियों के साथ सोये थे। इसी बीच दो हथियारबंद अपराधी आ धमके और गेट खोलकर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जिसमें गोली लगने से मंतोष कुमार की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। चिमनी भट्टा के मालिक रमेश कुमार ने गांव के ही सीताराम यादव पर लगभग एक वर्ष पहले पांच लाख रंगदारी मांगने का आरोप लगाया था। उनके द्वारा एक वर्ष पूर्व इस मामले में स्थानीय थाना में तीन लोगों पर नामजद प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई थी। जिसमें मृतक गवाह भी था।

CCTV में कैद हुई वारदात

वहीं घटना की पूरी वारदात चिमनी भट्टा में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो चुकी है। कैमरे में वीडियो में साफ दिख रहा है कि हथियारबंद अपराधी करीब साढ़े तीन बजे वहां आए और गेट खोल कर पहले मैनेजर को उठाया और उसे ताबड़तोड़ तीन गोली मार दी। घटना की सूचना मिलते हैं सदर एसडीपीओ पंकज कुमार रावत,नवादा थानाध्यक्ष संजीव कुमार एवं मुफस्सिल थानाध्यक्ष अनिल कुमार सदर अस्पताल पहुंचे और मामले की जानकारी ली। वहीं पुलिस सीसीटीवी में कैद वीडियो के आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है। वहीं दूसरी ओर एसपी राकेश कुमार दुबे ने बताया कि घटना की जानकारी के बाद छानबीन की गई। जिसमें पूर्व की विवाद को लेकर घटना को अंजाम देने की बात सामने आ रही है। जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी भी कर ली जाएगी। साल 2018 में भी कुख्यात अपराधी हीरो के द्वारा इसी चिमनी भट्टा पर रंगदारी को लेकर फायरिंग की गई थी। वारदात के बाद मृतक के घर में कोहराम मच गया है। परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था।

खबरें और भी हैं...