• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • After Three Days, The Ground Was Full Of Flight, The Shops Of Samosas And Jalebi Were Decorated; People Showing Tricolor Bid Farewell To 'Chinook'

बक्सर में चिनूक की इमरजेंसी लैंडिंग:एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर ने 3 दिन बाद भरी उड़ान, लोगों ने तिरंगा दिखाकर विदा किया; देखने भीड़ उमड़ी तो सज गईं समोसे-जलेबी की दुकानें

बक्सर9 महीने पहले
चिनूक के उड़ते ही लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाए और तिरंगा दिखाकर विदाई दी।

बक्सर के राजपुर प्रखंड में मानिकपुर गांव के हाईस्कूल के पास मैदान में इमरजेंसी लैंडिंग करने वाले चिनूक हेलिकॉप्टर ने चौथे दिन उड़ान भरी। चिनूक के उड़ते ही लोग भारत माता की जय के नारे लगाने लगे और तिरंगा दिखा हेलिकॉप्टर को विदा किया। पिछले 3 दिन के दौरान मैदान के चारों तरफ लोगों की काफी भीड़ जुट गई थी और इसे देखते हुए चाट-पकौड़े और समोसे-जलेबी की दुकानें भी खुल गई थी।

लोगों ने भारत माता की जय का नारा लगाकर चिनूक को विदा दिया।
लोगों ने भारत माता की जय का नारा लगाकर चिनूक को विदा दिया।

पिछले तीन दिन से चिनूक हेलिकॉप्टर को देखने के लिए लोगों के आने का सिलसिला जारी था। UP से भी लोग मानिकपुर गांव पहुंच रहे थे। लोगों की भीड़ के कारण मानिकपुर में मेले जैसा नजारा दिख रहा था। इसके चलते यहां चाट-पकौड़ी और समोसे-जलेबी की दुकानें भी सज गई थीं।

लोगों की भीड़ देख मैदान के पास चाट-समोसे की दुकान भी लग गई।
लोगों की भीड़ देख मैदान के पास चाट-समोसे की दुकान भी लग गई।

वायुसेना के चिनूक हेलिकॉप्टर की बुधवार शाम करीब 5 बजे इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई थी। वायुसेना का यह चिनूक हेलिकॉप्टर इलाहाबाद से बिहटा एयरफोर्स स्टेशन के लिए निकला था, लेकिन इंजन में तकनीकी खराबी आ जाने के कारण बक्सर में इसकी इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी थी।

गांव वालों के अपनेपन के मुरीद हुए वायुसेना के जवान
चॉपर में तकनीकी खराबी को ठीक करने के लिए 3 दिन से 50 से ज्यादा वायु सैनिक मानिकपुर में जमे थे। उन्हें मानिकपुर हाईस्कूल में ठहराया गया था, जहां उनके खाने-पीने से लेकर तमाम इंतजाम गांव के लोगों ने किए थे। इस सम्मान से वायु सैनिक बेहद खुश दिखे। उन्होंने कहा, 'जिस तरह का स्नेह ग्रामीणों से मिला है, उसे भुलाया नहीं जा सकता।'

खबरें और भी हैं...