• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Aishwarya Does Not Want To Leave; Tej Pratap Has Accused Mother Rabri Of Raising Her Hand

मंत्री तेजप्रताप और ऐश्वर्या के तलाक पर फैसला कल!:ऐश्वर्या छोड़ना नहीं चाहती हैं; तेजप्रताप ने लगाया है मां राबड़ी पर हाथ उठाने का आरोप

पटना2 महीने पहले

पर्यावरण एवं वन मंत्री तेज प्रताप यादव और उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय के मामले में हाईकोर्ट में बुधवार को फैसला नहीं हो सका। आज कोर्ट में सुनवाई करने वाली बेंच नहीं बैठी। मामले पर अब कल सुनवाई हो सकती है। इस मामले में तेज प्रताप ने कोर्ट में साफ-साफ कह दिया है कि वे तलाक चाहते हैं। उन्होंने तलाक की अर्जी दे रखी है। दूसरी तरफ ऐश्वर्या साथ रहना चाहती हैं। इसको लेकर जस्टिस आशुतोष कुमार की बेंच में फरवरी माह से सुनवाई चल रही है।

आज 22वीं तारीख होगी। कुछ सप्ताह पहले जस्टिस आशुतोष कुमार के पिता के निधन की वजह से सुनवाई की तारीख बढ़ानी पड़ी थी। इससे पूर्व निजी कारणों से तारीख बढ़ानी पड़ी थी। ऐश्वर्या के वकील ने भी आगे की तारीख मांगी थी। लालू प्रसाद के गंभीर रुप से बीमार होने के कारण भी मीटिंग टलती रही।

12 मई 2018 को दोनों की धूमधाम से शादी हुई थी।
12 मई 2018 को दोनों की धूमधाम से शादी हुई थी।

5 अगस्त को दोनों ओर से अभिभावकों की मीटिंग असफल

इस मामले में कोर्ट ने भरसक कोशिश की कि मेलमिलाप हो जाए लेकिन यह नहीं हो सका। कोर्ट ने दोनों को आमने-सामने करके भी बातचीत की। 29 जून को पटना हाईकोर्ट के डिजिनेटेड चैम्बर में जस्टिस आशुतोष कुमार ने काउंसिलिंग की थी। तब राबड़ी देवी के साथ तेजप्रताप यादव और चंद्रिका राय के साथ बेटी ऐश्वर्या राय कोर्ट में थीं। लेकिन तेज ने साथ रहने से इंकार कर दिया था।

इसके बाद कोर्ट ने दोनों तरफ के अभिभावकों की मीटिंग दोनों पक्षों के वकीलों की कमेटी के जरिए करवायी। पहले तो लालू प्रसाद की सेहत काफी खराब हो जाने और पारस व दिल्ली एम्स में भर्ती होने से यह मीटिंग टलती रही लेकिन जब 5 अगस्त को तेजप्रताप की मां पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय की मीटिंग पटना चिड़याघर के गेस्ट हाउस में हुई तो राबड़ी देवी ने साफ कह दिया कि जब तेजप्रताप ही तैयार नहीं हैं तो वे इसमें क्या कर सकती हैं? इसके बाद मेलमिलाप की संभावना खत्म हो गई है।

अब अंतिम रुप से हाईकोर्ट में जस्टिस आशुतोष कुमार की बेंच दोनों तरफ के वकीलों की दलील सुनेगी और फैसला देगी। तेज की तरफ से जगन्नाथ सिंह, गजेन्द्र प्रसाद यादव और ऐश्वर्या की ओर से पी.एन. शाही वकील हैं।

राबड़ी आवास से रोते-बिलखते बाहर निकली थीं ऐश्वर्या राय। (फाइल फोटो)
राबड़ी आवास से रोते-बिलखते बाहर निकली थीं ऐश्वर्या राय। (फाइल फोटो)

दोनों तरफ से कई तरह से आरोप लगाए गए

बता दें कि 12 मई को लालू प्रसाद के बेटे तेजप्रताप यादव और चंद्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या राय की शादी काफी धूमधाम के साथ हुई थी। शादी के कुछ माह बाद ही तेज ने पटना के फैमिली कोर्ट में तलाक लेने संबंधी आवेदन दिया था। ऐश्वर्या ने मीडिया के सामने रोते-बिलखते हुए कई आरोप लगाए थे।

तेजप्रताप ने सोशल मीडिया के सामने आकर कहा था कि ऐश्वर्या का पूरा परिवार उन्हें परेशान करने में लगा है।
तेजप्रताप ने सोशल मीडिया के सामने आकर कहा था कि ऐश्वर्या का पूरा परिवार उन्हें परेशान करने में लगा है।

कुछ सप्ताह पहले तेजप्रताप ने सोशल मीडिया पर आकर कहा था कि ऐश्वर्या का पूरा परिवार उन्हें परेशान करने में लगा है। उनसे 10 करोड़ रुपए की मांग की जा रही है। उन्होंने कहा था कि मां ईश्वर का ही दूसरा रूप है। जब आपकी आंखों के सामने ही आपकी मां को, परिवार को परेशान किया जाने लगे, उन पर हाथ उठाया जाए, ऐसे में क्या एक बेटे को चुप रहना चाहिए?

लालू के बेटे-बहू के तलाक का केस:ऐश्वर्या ने कोर्ट में कहा- पति के साथ रहने में कोई दिक्कत नहीं, तेज बोले- मुझे नहीं रहना