• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Aurangabad News; Voting For Panchayat Election Continues Late Evening In At Booth Number 159 In Bela

औरंगाबाद में मोबाइल-मोमबत्ती की रौशनी में मतदान:बेला में बूथ संख्या 159 पर देर शाम तक मतदान जारी, एक घंटा देर से हुआ था शुरू, हंगामा हुआ तो बढ़ती गई भीड़

औरंगाबाद10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बूथ पर वोटरों की संख्या ज्यादा होने की वजह से हुई दिक्कत। - Dainik Bhaskar
बूथ पर वोटरों की संख्या ज्यादा होने की वजह से हुई दिक्कत।

औरंगाबाद प्रखंड के बेला पंचायत के बूथ संख्या 159 पर मतदानकर्मियों पर लेटलतीफी का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने हंगामा किया। ग्रामीणों का कहना है कि यहां 950 वोट होने के वाबजूद मात्र एक बूथ बनाया गया, जो प्रशासन की लापरवाही दिखाता है। ग्रामीणों ने कहा कि शुरुआत में ईवीएम खराब होने की वजह से 8 बजे से मतदान का काम शुरु हुआ। लेकिन भीड़ इतनी ज्यादा थी कि शाम 7 बजे तक भी पूरा नहीं हो पाया। ऊपर से पुलिस के द्वारा लाठी-डंडे से मारा जा रहा है, जिसके कारण लोगों ने हंगामा किया है।

ग्रामीणों के हंगामा के बाद करीब 1 घंटे तक मतदान का काम प्रभावित रहा। स्थिति खराब देखते हुए सुरक्षाकर्मियों को बुलाया गया, जिसके बाद मामला शांत हुआ। फिलहाल मतदान का काम जारी है।

मुखिया प्रत्याशी भी फंसे, कतारों में हैं खडे़

बुथ संख्या 159 पर भीड़ का आलम ये है कि सुबह से अपनी बारी का इंतजार कर रहे मुखिया प्रत्याशी भी फंसे हैं। मुखिया प्रत्याशी ने कहा कि प्रशासन को यह सुनिश्चित करना चाहिए था कि जब यहां 950 वोट हैं तो बूथ यहां पर दो देना चाहिए था। इसके बावजूद यहां एक मात्र बूथ रखा गया, जिसका परिणाम है कि अब तक लोग कतार मे हैं।

घायलों को इलाज के लिए औरंगाबाद सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
घायलों को इलाज के लिए औरंगाबाद सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बेला के परसा में मतदान के बाद दो गुटों में झड़प

जिले के बेला पंचायत के परसा गांव में पंचायत चुनाव के प्रथम चरण का मतदान संपन्न होने के बाद आज शाम में दो गुटों में हिंसक झड़प हुई है। दोनों गुटों में जमकर लाठी-डंडे चले हैं। झड़प में पांच लोग गंभीर रूप से घायल हुए है। घायलों को इलाज के लिए औरंगाबाद सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंचकर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। झड़प का कारण चुनावी रंजिश बताया जा रहा है। गांव में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

खबरें और भी हैं...