• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • BA.2 Found In IGIMS For The First Time In 24 Out Of 32 Genomes And In 40 Out Of 40 For The Second Time

पटना में ओमिक्रॉन का सब वैरिएंट BA.2:दुनिया में दहशत फैलाने वाला स्ट्रेन बिहार में पड़ा कमजोर, एक्सपर्ट बोले- कभी भी हो सकता है तेज

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार में ओमिक्रॉन का सब-वैरिएंट BA.2 है। हालांकि, पूरी दुनिया में दहशत मचाने वाला यह स्ट्रेन यहां कमजोर पड़ता दिख रहा है। पटना के इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (IGIMS) में दो बार में कराए गए 72 सैंपल की जिनोम सिक्वेंसिंग में 64 लोगों में ओमिक्रॉन का BA.2 सब स्ट्रेन पाया गया था। एक्सपर्ट का कहना है कि सैंपल सर्वे से पता चलता है कि राज्य में यह सब स्ट्रेन अधिक है।

स्वास्थ्य विभाग की मानें तो इस नए सब स्ट्रेन से राज्य में VIP से लेकर विदेश से आने वाले लोग भी संक्रमित हुए, लेकिन इसका कोई बड़ा प्रभाव नहीं हुआ है। अब लगभग सभी संक्रमित निगेटिव हो गए हैं। कोरोना पॉजिटिव होने वालों की ट्रैवेल हिस्ट्री को लेकर जांच पड़ताल कराई गई, जिसके बाद यह सब-स्ट्रेन सामने आया। वहीं, बाहरी एक्सपर्ट लगातार चेतवानी दे रहे हैं कि यह कभी भी तेज हो सकता है। यह कोरोना की दो लहर लाने की क्षमता रखता है।

88.9% में नया सब-स्ट्रेन

IGIMS में 3 जनवरी को जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए पहली बार सैंपल लिया गया। पहले शिफ्ट में लगाए गए 32 सैंपल की रिपोर्ट 9 जनवरी को आई, जिसमें 85% में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई। 12% में डेल्टा तथा 3% अन्य वैरिएंट पाए गए। इसमें एक सैंपल में किसी वैरिएंट की पहचान नहीं हो पाई थी।

वहीं, दूसरी शिफ्ट में लिए सैंपल की जांच रिपोर्ट 19 जनवरी को आई, इसमें 100% में ओमिक्रॉन पाया गया। चौंकाने वाली बात है कि सभी सैंपलों में ओमिक्रॉन का नया सब-स्ट्रेन BA.2 पाया गया है।

क्यों दुनिया में उड़ी है BA.2 सब-वैरिएंट से नींद

ओमिक्रॉन के नए सब-स्ट्रेन (BA.2) ने दुनिया की नींद उड़ा दी है। ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट से इसलिए भी ज्यादा खतरा है, क्योंकि RT-PCR टेस्ट भी यह डिटेक्ट नहीं हो रहा है। अब तक यह नया सब-वैरिएंट दुनिया के भारत समेत 40 देशों में दस्तक दे चुका है और माना जा रहा है कि ये वैरिएंट बहुत तेजी से दुनिया के बाकी देशों में भी फैल सकता है। कोरोना वैरिएंट ओमिक्रॉन के एक नए सब वैरिएंट BA.2 की पहचान बिहार में 9 जनवरी को हुई। इसे 'स्टेल्थ ओमिक्रॉन' कहा जा रहा है। ये नया सब वैरिएंट ओमिक्रॉन के बाकी स्ट्रेन को पीछे छोड़ते हुए दुनिया के कई देशों में तेजी से फैल रहा है।

महामारी के दो पीक ला सकता है ओमिक्रॉन

40 देशों में ओमिक्रॉन का नए सब-वैरिएंट BA.2 मिला है। सबसे ज्यादा मामले डेनमार्क में सामने आए हैं। दुनियाभर के एक्सपर्ट्स आशंका जता रहे हैं कि इस नए स्ट्रेन की वजह से महामारी के दो अलग-अलग पीक आ सकते हैं। जॉन हॉपकिन्स में विषाणु विज्ञानी ब्रायन जेले ने आशंका जताई है कि नए स्ट्रेन से यूरोप, उत्तरी अमेरिका में महामारी बढ़ सकती है। भारत में भी ओमिक्रॉन के इस नए स्ट्रेन के अब तक 500 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं।

क्या है ओमिक्रॉन का नया सब वैरिएंट

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने 26 नवंबर 2021 को ओमिक्रॉन या B.1.1.529 को वैरिएंट ऑफ कंसर्न घोषित किया था। WHO के मुताबिक, ओमिक्रॉन के तीन सब वैरिएंट: BA.1, BA.2, और BA.3 हैं। 23 दिसंबर 2021 तक ओमिक्रॉन के 99% सीक्वेंस्ड केसेस में सब वैरिएंट BA.1 पाया गया था, लेकिन पिछले कुछ दिनों में ओमिक्रॉन का दूसरा सब वैरिएंट BA.2 या 'स्टेल्थ ओमिक्रॉन' तेजी से फैल रहा है। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में नए सब-वैरिएंट की वजह से भारत समेत दुनिया भर में कोरोना केसेस तेजी से बढ़ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...