पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Beware Of Blood Smugglers In Gaya, Selling Blood From The Body Of BSF Jawan's Son

गया में BSF जवान के बेटे का खून बेच दिया:जो देश के लिए अपना लहू बहाते हैं, उनके बच्चे का खून निकाल कर बेच दिया धंधेबाजों ने, पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई

गया18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
BSF जवान का बेटा, जिनके शरीर से खून निकाल कर धंधेबाजों ने बेच दिया। - Dainik Bhaskar
BSF जवान का बेटा, जिनके शरीर से खून निकाल कर धंधेबाजों ने बेच दिया।

गया शहर में बच्चों को बहला-फुसलाकर या फिर उन्हें जबरन ले जाकर उनके शरीर से खून निकलवाने का धंधा करने का मामला सामने आया है। पीड़ित बच्चे की मां ने मंगलवार की शाम मुफस्सिल थाने में आवेदन दिया था, लेकिन अब तक उस आवेदन के आधार पर FIR दर्ज नहीं की जा सकी है। हालांकि पुलिस द्वारा छानबीन की जा रही है, पर अब तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है।

कार्रवाई के नाम पर महिला को थाने के इंस्पेक्टर ने भरोसा दिया है कि हम आप ही के जाति के हैं, मदद करेंगे। हैरत की बात है कि जिन लड़कों पर खून का धंधा करने का आरोप लगाया गया है, वह भी पीड़ित बच्चे की मां की जाति के ही हैं। ऐसे में अब सवाल यह उठता है कि आखिर इंस्पेक्टर किसकी मदद करेंगे। पीड़ित की या फिर अपराधी की, क्योंकि दोनों ही एक ही जाति के हैं।

पीड़ित बच्चे की मां का कहना है कि मंगलवार से लेकर अब तक कई लोग हमारे घर मामले को दबाने को लेकर आ चुके हैं। पर मैं नहीं मानूंगी। दोषियों को हर हाल में सजा दिलवाऊंगी, ताकि दूसरा बच्चा इस गिरोह का शिकार न बने। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सिद्धार्थपुरी कॉलोनी रोड नंबर एक में रहने वाली रेखा सिंह के पति BSF जवान हैं। राजस्थान में पोस्टेड हैं। रेखा सिंह अपने बच्चों के साथ किराए के मकान में यहां रहती हैं। थाने में दिए गए आवेदन में रेखा सिंह का कहना है कि हमारे मुहल्ले के भोला सिंह के रेंटर का लड़का गौतम और उसके छोटा भाई सूरज हमारे बेटे रोहित राज (13 वर्ष) को जबरन तीन बार JPN अस्पताल ले गया और उसका खून निकलवा कर बेच दिया। यही नहीं उन दोनों ने हमारे बेटे को खून के बदले में पैसे भी दिए, जिसे रोहित ने हमें बगैर बताए ही खर्च कर दिए। रेखा सिंह का कहना है कि इस बात का खुलासा तब हुआ, जब चौथी बार गौतम व सूरज रोहित को ले जाने के लिए आए। तब हमने उनकी बातें सुनीं और रोहित से जब पूछताछ की तो सच सामने आ गया।

रेखा सिंह का कहना है कि वे लड़के रोहित राज को धमका कर रखते थे कि घर में किसी को बताया तो साइकिल छीन लेंगे और मारपीट भी करेंगे। इस बात से वह डरा रहता था और खून के बाबत घरवालों को कोई जानकारी नहीं दी। यहीं नहीं, महिला का यह भी आरोप है कि जिस मकान में वे लड़के रहते हैं, उस मकान का मालिक भी इस धंधे में लिप्त है।

महिला ने बताया कि जब से हमने थाने में आवेदन दिया है, तब से लेकर अब तक कई लोग इस मामले को रफादफा करने के लिए घर आ रहे हैं। इंसपेक्टर पंकज सिंह का कहना है कि प्रथम दृष्टया बच्चे के शरीर से खून निकाले जाने का मामला उजागर हुआ है। पुलिस छानबीन कर रही है। ठोस कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...