पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bhima Army District President Killed In Muzaffarpur; Supporters Vandalize Accused House

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष की हत्या से हंगामा:रंजीत का शव पहुंचने के बाद 2 घंटे तक हुआ प्रदर्शन, मुजफ्फरपुर में मोबाइल गेम के झगड़े में हुई थी हत्या

मुजफ्फरपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • DSP राजेश शर्मा और रामनरेश पासवान के आने के बाद ही माने लोग
  • देर रात भीम आर्मी के समर्थकों ने आरोपित के घर में तोड़फोड़ की

मुजफ्फरपुर में भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष रंजीत पासवान की हत्या के बाद उनके समर्थकों के साथ ग्रामीणों ने लगभग 2 घंटे तक शव के साथ प्रदर्शन किया। पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही शव घर पहुंचा, लोगों की भीड़ जुटने लगी। हजारों की संख्या में लोग वहां जुट गए और DSP और DM को बुलाने की मांग करने लगे। जब तक वे नहीं पहुंचे तब तक शव की अंत्येष्टि नहीं की गई। लोगों की मांग थी कि मृतक के परिजन को सरकारी नौकरी मिले। मुआवजे के रूप में डेढ़ करोड़ रुपए और आरोपी को फांसी की सजा मिले।

हजारों की उमड़ी भीड़, DSP के आने के बाद माने समर्थक
पोस्टमार्टम के बाद जब लाश घर पहुंची तो हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ जुट गई। रंजीत पासवान की हत्या से भीम आर्मी के समर्थकों के साथ ग्रामीण भी आक्रोशित हो गए। लगभग 2 घंटे तक लाश को लेकर अपनी मांगों को लेकर डटे रहे। उन्होंने चुनाव के पहले नीतीश कुमार के दलित की हत्या पर मृतक के परिजन को सरकारी नौकरी देने की मांग की । इसके अलावा मुआवजे के रूप में डेढ़ करोड़ रुपए और आरोपी की फांसी देने की बात पर भी अड़े रहे। शव को तब तक अत्येष्टि के लिए नहीं ले जाया गया जब तक कि DSP और DM मामले को शांत कराने नहीं पहुंचे। DSP सरैया राजेश शर्मा और DSP टाउन रामनरेश पासवान मौके पर पहुंचे और आश्वासन देकर समर्थकों की भीड़ हटाई।

हत्या के बाद भीम आर्मी समर्थकों का उमड़ा हुजूम
हत्या के बाद भीम आर्मी समर्थकों का उमड़ा हुजूम

बुधवार को हुई थी जिलाध्यक्ष की हत्या

मुजफ्फरपुर के करजा में भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष रंजीत पासवान (30 वर्ष) की चाकू घोंप कर हत्या कर दी गई। बुधवार देर रात मोबाइल देखने के विवाद में अपने ही दरवाजे पर उन्हें पड़ोसी शाहबाज अंसारी उर्फ रिंकू ने पेट में चाकू मार दिया। शाम में रिंकू और रंजीत के छोटे भाई के बीच मोबाइल पर वीडियो देखने के लिए विवाद हुआ था। मौत के बाद देर रात रंजीत पासवान के समर्थकों ने आरोपित के घर पर जमकर तोड़फोड़ की और आग लगाने का भी प्रयास किया। दोनों पक्षों में तनाव के कारण पूरी रात पुलिस ने गांव में कैंप किया।

मोबाइल में वीडियो देखने के लिए हुआ था झगड़ा
रिंकू और रंजीत के छोटे भाई के बीच मोबाइल में वीडियो देखने के लिए विवाद हुआ था। इसी को लेकर देर रात झगड़ा तूल पकड़ने लगा और बात हाथापाई तक पहुंच गई। रंजीत ने बीच-बचाव किया तो रिंकू ने उसके जांघ और पेट में चाकू घोंप दी। इसमें भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष बुरी तरह जख्मी हो गए। परिजनों ने उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी मौत हो गई।

गिरफ्तार आरोपी शाहबाज अंसारी उर्फ रिंकू।
गिरफ्तार आरोपी शाहबाज अंसारी उर्फ रिंकू।

जमकर तोड़फोड़ और आगजनी का प्रयास
शाहबाज अंसारी उर्फ रिंकू रंजीत के ही पड़ोसी मो. हकीम का बेटा है। मौत के बाद पड़ोसी मो. हकीम के घर पर रंजीत के समर्थकों ने हमला कर जमकर तोड़फोड़ की। आक्रोशित लोगों ने आग लगाने का भी प्रयास किया। सूचना मिलते ही पुलिस पहुंची और मामले को संभाला लेकिन दोनों पक्षों में तनाव कम नहीं हुआ है। मौके पर SSP जयकांत, सिटी SP राजेश कुमार, सरैया SDPO राजेश कुमार शर्मा सहित कई पुलिस अधिकारियों ने पहुंचकर स्थिति को नियंत्रण में किया। पुलिस ने पूरी रात गांव में कैम्प किया। ग्रामीणों की मदद से आरोपित रिंकू को देर रात ही गिरफ्तार कर लिया।

पोस्टमार्टम के लिए SKMCH में मौजूद पुलिस अधिकारी।
पोस्टमार्टम के लिए SKMCH में मौजूद पुलिस अधिकारी।

पकड़ी चौक पर जिम सेंटर चलाता था रंजीत पासवान
मृतक रंजीत पासवान पकड़ी चौक पर जिम सेंटर चलाता था। गिरफ्तार किए गए रिंकू ने पुलिस को बताया है कि दोस्तों के साथ मृतक का भाई उसके दरवाजे पर जुट कर मोबाइल गेम व वीडियो देख रहा था। जमावड़े को लेकर कई बार उसे मना किया, लेकिन नहीं माना। बुधवार की शाम भी इसी बात को लेकर मना करने पर झगड़ा हो गया। SSP ने बताया कि गिरफ्तार रिंकू ने प्रारंभिक पूछताछ में मोबाइल पर वीडियो देखने का विवाद बताया है। हालांकि कुछ और कारण भी इसमें सामने आ रहे हैं, जिसकी पड़ताल की जा रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser