पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Bhagalupar Police Station Incharge Suspend With Six Hours; Dainik Bhaskar News Impact

भास्कर पर खबर चलते ही 6 घंटे में थानाध्यक्ष सस्पेंड:भागलपुर के मायागंज में क्लर्क की पीट-पीट कर हत्या मामले में हुई कार्रवाई, न्यायिक जांच भी शुरू

भागलपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटना की जांच के दौरान पहुंची SSP निताशा गुड़िया। - Dainik Bhaskar
घटना की जांच के दौरान पहुंची SSP निताशा गुड़िया।

भागलपुर के बरारी थाना क्षेत्र स्थित मायागंज में सोमवार की शाम पुलिस की पिटाई से मरे लघु सिंचाई विभाग के क्लर्क संजय कुमार के मामले में अब न्यायिक जांच की कार्रवाई शुरू हो गई है। भास्कर में खबर छपने के 6 घंटे के अंदर थानाध्यक्ष प्रमोद साह को सस्पेंड कर दिया गया है। न्यायिक जांच की अनुशंसा SSP निताशा गुड़िया ने भागलपुर DM से की। इसके बाद DM ने जिला जज से बात की। जिला जज ने इस मामले की जांच के लिए एक मजिस्ट्रेट को अनुमोदित कर दिया है।

SSP ने बताया कि पूरी जांच प्रक्रिया मानवाधिकार आयोग की गाइडलाइन के तहत होगी। SDM आशीष नारायण ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद जांच की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी। मृतक के परिजनों के आवेदन के आधार पर पूरे मामले की जांच होगी।

दो घंटे तक पीटती रही पुलिस
भागलपुर के बरारी थाना क्षेत्र स्थित मायागंज में सोमवार की शाम साउंड बॉक्स बजाने को लेकर 2 पक्षों में बवाल हुआ था। इसके बाद रात 9 बजे बरारी थाने की पुलिस दलबल के साथ पहुंची और रास्ते से गुजरने वाले कई लोगों को पीटा। आरोप है कि पुलिसकर्मी करीब 25 घरों में जबरन घुसे और मारपीट की। करीब 11 बजे तक पुलिस लोगों को पीटती रही। इसी क्रम में पुलिस ने लघु सिंचाई विभाग के क्लर्क संजय कुमार (45) को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। हालत गंभीर होने पर पुलिस ने उसे मायागंज अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसके बाद मंगलवार सुबह से आक्रोशित लोग शव को लेकर बरारी थाना पहुंचे और जमकर बवाल किया।

पुलिस की पिटाई से मरा क्लर्क संजय कुमार। ( फाइल फोटो )
पुलिस की पिटाई से मरा क्लर्क संजय कुमार। ( फाइल फोटो )

पापा को घसीटते हुए ले गई थी पुलिस
मृतक की बड़ी बेटी मोनिका कुमारी ने बताया कि पापा सोमवार रात 9 बजे होली मना कर घर लौट रहे थे, तभी बरारी थाने की पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। पुलिस ने उनकी जमकर पिटाई की और गले में पड़े गमछे को पकड़ कर उन्हें घसीटते हुए थाने लेकर गई। इसी दौरान उनकी हालत गंभीर हो गई। मायागंज अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया। परिजनों का आरोप है कि उनकी मौत के बाद पुलिस लाश को छोड़कर फरार हो गई।

खबरें और भी हैं...