पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Nitish Kumar Farmer Protest Update | Bihar CM Nitish Kumar On Agricultural Bills Over Haryana Punjab Farmers Continue Anti farm Bills Protests

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कृषि बिलों पर नीतीश बोले:बस बातचीत नहीं होने से है सब दिक्कत, बिहार में तो 2006 में ही बदल गया था सिस्टम

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कृषि बिलों पर मीडिया से बात करते बिहार CM नीतीश कुमार। - Dainik Bhaskar
कृषि बिलों पर मीडिया से बात करते बिहार CM नीतीश कुमार।
  • कृषि बिलों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर बैठे हैं किसान
  • बिहार CM के साथ आने से केन्द्र सरकार को मिलेगी राहत

नए कृषि बिलों को लेकर परेशानी में फंसी केन्द्र सरकार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का साथ मिला है। मुख्यमंत्री ने आज पटना में आयोजित एक सरकारी कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा - किसानों और सरकार के बीच कृषि बिलों को लेकर तकरार इसलिए है, क्योंकि बातचीत नहीं हो पा रही है। केन्द्र सरकार की तरफ से कहा जा रहा है कि हमलोग किसानों से बातचीत करना चाहते हैं। उनको बताना चाहते है कि फसलों के प्रोक्योरमेंट में किसी तरह की कठिनाई नहीं आनेवाली है।

नीतीश ने कहा, 'आप तो जान रहे हैं, हमलोगों ने तो बिहार में 2006 में ही इसे (APMC को) खत्म कर दिया था। उसी समय से हमलोग बिहार में पैक्स के माध्यम से प्रोक्योरमेंट कर रहे हैं। जरूरत ये है कि लोगों के बीच बातचीत हो जाए। जब बातचीत हो जाएगी, तो सही मायने में किसानों को यह जानकारी मिल जाएगी कि उनके फसल के प्रोक्योरमेंट में कोई बाधा नहीं आनेवाली है। प्रोक्योरमेंट होगा और जो केन्द्र के द्वारा निर्धारित किया जाता है, वो उनको मिलेगा।

नीतीश का बयान केन्द्र के लिए है राहत

कृषि बिल पर किसानों से लेकर विपक्ष तक के निशाने पर आई केन्द्र सरकार के लिए नीतीश कुमार का यह बयान राहत भरा है। इस बिल के खिलाफ किसानों का आंदोलन दिल्ली सीमा तक पहुंच चुका है। केन्द्र सरकार की तरफ से बातचीत के प्रस्ताव को किसान आंदोलनकारियों ने ठुकरा दिया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए केन्द्र सरकार के कई मंत्री अपने बयान जारी कर किसानों को समझाने की कोशिशों में जुटे हैं। ऐसे में नीतीश कुमार का केन्द्र सरकार के साथ खड़ा होना, उनके पक्ष को मजबूत करता है।

क्या कहा है केन्द्रीय मंत्रियों ने

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कृषि बिल पर सरकार की तरफ से सफाई रखी है। सोशल मीडिया पर उन्होंने कहा कि नए कृषि कानून में मंडियां खत्म नहीं हो रही हैं। मंडियां पहले की तरह ही चलती रहेंगी। नए कानून ने किसानों को अपनी फसल कहीं भी बेचने की आजादी दी है। जो भी किसानों को सबसे अच्छा दाम देगा, वो फसल खरीद पाएगा, चाहे वो मंडी में हो या बाहर। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी किसानों को समझाने की कोशिश की है। उन्होंने कहा, 'कृषि कानून पर गलतफहमी ना रखें। पंजाब के किसानों ने पिछले साल से ज्यादा धान मंडी में बेचा और ज़्यादा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचा। न्यूनतम समर्थन मूल्य भी जीवित है और मंडी भी। सरकारी खरीद भी हो रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser