पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

तमाशा तो खूब हुआ आज कांग्रेस में:प्रेमचंद मिश्रा बुलाने पर भी नहीं चढ़े मंच पर, दो पूर्व MLA बोलीं- कोई संगठन नहीं, टोनी तो हर वक्ता को टोकते रहे

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में पूर्व मंत्री संजीव टोनी के तेवर ने कांग्रेस नेतृत्व को सबसे अधिक परेशान किया। - Dainik Bhaskar
बैठक में पूर्व मंत्री संजीव टोनी के तेवर ने कांग्रेस नेतृत्व को सबसे अधिक परेशान किया।
  • बिहार कांग्रेस के नए प्रभारी भक्त चरण दास के सामने कांग्रेस नेताओं ने खूब हंगामा किया

बिहार कांग्रेस के नये प्रभारी भक्त चरण दास आज पटना पहुंचे। सदाकत आश्रम में उन्होंने बिहार प्रदेश कांग्रेस वर्किंग कमिटी और एडवाजरी कमिटी की बैठक की। यह बैठक खास थी। इसमें मंच पर बैठे नेताओं को बोलना नहीं, सुनना था। आज बोलने की बारी, नीचे बैठे नेताओं की थी। इसमें पूर्व विधायक से लेकर जिलों से आये नेता और प्रकोष्ठों के प्रमुख नेता शामिल थे। इन नेताओं ने जब बारी-बारी बोलना शुरू किया तो मंच पर बैठे प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा से लेकर विधायक दल के नेता अजीत शर्मा तक कई बार बगलें झांकते नजर आये।

बार-बार बुलाने पर भी मंच पर नहीं पहुंचे प्रेमचंद मिश्रा

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और एमएलसी प्रेमचंद मिश्रा भी इस बैठक में पहुंचे थे। प्रेमचंद मिश्रा को बार-बार मंच पर आकर बैठने के लिए अपील की गई, लेकिन वो नहीं पहुंचे। कई नेताओं के बाद प्रभारी को सुझाव देने पहुंचे तो अपनी नाराजगी भी जता दी। प्रेमचंद मिश्रा ने कहा - हमारी पार्टी की हालत यह है कि कुछ वर्गों के लोग ढूंढने पर भी दिखाई नहीं देते। जैसे - पिछड़ा, अति पिछड़ा वर्ग के लोग। ऐसा क्यों है, ये सोचने की जरूरत है। हमें ऐसे लोगों को अपनी पार्टी में जोड़ने के लिए प्लान बनाना चाहिए। रणनीति बनानी चाहिए। साथ ही कहा - हमारी पार्टी में कौन लोग क्या काम कर सकते हैं, इसकी जानकारी जब हमें है, तो फिर उनकी योग्यता के अनुसार काम क्यों नही सौंपते।

हॉल में पीछे बैठे प्रेमचंद मिश्रा (सफ़ेद मास्क और आसमानी जैकेट में)।
हॉल में पीछे बैठे प्रेमचंद मिश्रा (सफ़ेद मास्क और आसमानी जैकेट में)।

गठबंधन को भूलने की नसीहत मिली

बेगूसराय से पार्टी की पूर्व विधायक अमिता भूषण ने, कांग्रेस में महिलाओं की स्थिति का मुद्दा उठाया। अमिता भूषण ने कहा - पार्टी के लोग मुझसे पूछते हैं, महिलाएं कांग्रेस को क्यों वोट नहीं करती। मै कांग्रेस के लोगों से पूछती हूं - महिलाएं आपको क्यों वोट करें? कांग्रेस में महिलाएं कहां दिखती हैं। उन्होंने कहा - कांग्रेस न तो महिलाओं को पार्टी से जोड़ती है और ना महिलाओं के मुद्दे को उठाती है। साथ ही कहा - अगर हम कांग्रेस को बिहार में वोट दिलाना चाहते हैं तो हमें गठबंधन को भूलना होगा। तभी हम कांग्रेस का विस्तार कर पायेंगे।

पूर्व विधायक ने पूछा - कहां है संगठन

पूर्व विधायक पूनम पासवान ने पार्टी प्रभारी के सामने जो कहा, वो मंच पर बैठे नेताओं के लिए कड़वे घूंट जैसा था। उन्होंने कहा - बिहार में कांग्रेस पार्टी का ना जिला स्तर पर संगठन है ना प्रखंड स्तर पर। यह हम जानते हैं, लेकिन इसे ठीक करने की कोशिश कोई नहीं करता। जबतक हम संगठन मजबूत नहीं करेंगे, तबतक कुछ नहीं होगा।

किसान सेल अध्यक्ष बोले - एकला चलो

प्रदेश कांग्रेस के किसान सेल के अध्यक्ष जितेन्द्र शर्मा ने तो मंच से 'कांग्रेस एकला चलो' का नारा ही दे दिया। जितेन्द्र ने कहा - बिहार में कांग्रेस तभी आगे बढ़ेगी, जब हम अकेले चुनाव में उतरेंगे। जितेन्द्र के इस बयान पर हॉल में आवाजें तेज हुई। मामले को संभालते हुए प्रभारी भक्त चरण दास ने तुरंत चेतावनी दे दी। कहा- मौका दिया है तो कुछ भी मत बोलिये।

पूर्व मंत्री संजीव टोनी का बखेड़ा

पूरी बैठक में कांग्रेस नेतृत्व को जिस नेता के तेवर ने सबसे अधिक परेशान किया, वो थे पूर्व मंत्री संजीव टोनी। टोनी रह-रहकर मंच पर बोल रहे नेताओं को टोकते रहे। एकबार तो उन्होंने पूर्व प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल की तारीफ कर रहे एक नेता को जमकर फटकार लगाई। वो यहीं नहीं रुके, कई बार कार्यक्रम में हंगामा किया। आखिरकार नवनियुक्त प्रभारी को उन्हें फटकार लगानी पड़ी। फिर फटकार के बाद पुचकारते हुए बुलाकर उन्हें मंच पर जगह दिलवाई, जिसके बाद टोनी थोड़े शांत हुए।

भक्त चरण दास को हुआ कलह का अंदाजा

इससे पहले आज दोपहर बाद पटना के सदाकत आश्रम में भक्त चरण दास ने कांग्रेस नेताओं से मुलाकात की। इस दौरान ही उन्हें बिहार कांग्रेस में चल रहे कलह का अंदाजा हो गया। चरण दास के सामने ही पार्टी के नेताओं ने टिकट बेचने के खेल की कहानी सुना दी। भोजपुर के कांग्रेस प्रवक्ता जितेंद्र शर्मा ने प्रभारी के सामने बिहार प्रदेश कांग्रेस के नेताओं को जमकर कोसा।

भक्त चरण के सामने हंगामा करते कांग्रेस नेता।
भक्त चरण के सामने हंगामा करते कांग्रेस नेता।

मुलाकातियों में दिखे भरत सिंह

बिहार कांग्रेस प्रभारी से मुलाकात करने वाले नेताओं में भरत सिंह भी दिखे। वही भरत सिंह, जिन्होंने हाल में पार्टी में होनेवाली बड़ी टूट वाले अपने बयान से हंगामा खड़ा कर दिया था। कार्यकर्ताओं और नेताओं की भीड़ में भक्त चरण दास ने भरत सिंह से दुआ-सलाम भी किया। बाद में मीडिया से बात करते कहा कि मैं उन्हें पार्टी का नेता नहीं मानता हूं। आपलोगों से भी निवेदन है कि उनका बयान न छापें।

लाइन में खड़े होकर नए बिहार प्रभारी से मिलने का कर रहे इंतजार कर रहे 'बाहरी' भरत सिंह।
लाइन में खड़े होकर नए बिहार प्रभारी से मिलने का कर रहे इंतजार कर रहे 'बाहरी' भरत सिंह।

और क्या-क्या कहा

इस दौरान मीडिया से बातचीत के क्रम में उन्होंने कहा कि बिहार में मध्यावधि चुनाव की स्थिति नहीं है। महागठबंधन के नेता तेजस्वी यादव से भी मुलाक़ात करेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर उन्होंने कहा कि वे सेक्युलर छवि के नेता हैं, लेकिन अब उन्हें खुद की समीक्षा करने की जरूरत है। पार्टी के जिन नेताओं-कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय हुआ, टिकट नहीं मिला, उनकी सुनवाई होगी। सभी लोग कांग्रेस को बनाने में मदद करें। लेकिन इस तरह पार्टी के साथ गद्दारी करने वालों को माफ नहीं किया जाएगा।

नए बिहार प्रभारी चरण दास के कक्ष के बाहर इंतजार करते प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा।
नए बिहार प्रभारी चरण दास के कक्ष के बाहर इंतजार करते प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा।

3 दिनों तक पटना में रहेंगे नए प्रभारी

भक्त चरण दास के बिहार दौरे को प्रदेश कांग्रेस में होनेवाले बड़े बदलावों का संकेत माना जा रहा है। आज 11 जनवरी से लगातार तीन दिनों तक नए प्रभारी पटना में होंगे। इस दौरान वो सदाकत आश्रम में रहेंगे। पार्टी नेताओं की कई बैठकें लेंगे। बैठकों के जरिये पार्टी की स्थिति को समझने की कोशिश होगी। इस दौरान बिहार प्रदेश कांग्रेस वर्किंग एडवाइजरी कमिटी की भी बैठक होगी। साथ ही पार्टी के सभी सांसदों, विधायकों के अलावा पार्टी के सभी प्रमुख नेताओं से वन टू वन बात करेंगे।

कांग्रेस में टूट की आशंका कर चुके हैं खारिज

पटना आने से पहले, अपने प्रदेश कांग्रेस प्रभारी बनाये जाने के ऐलान के बाद ही भक्त चरण दास ने पार्टी में किसी टूट से साफ इंकार किया था। चरण दास ने कहा - इस विषय को लेकर वो लगातार बिहार के विधायकों के संपर्क में है। ऐसी कोई भी स्थिति बिहार कांग्रेस में नहीं, जिसकी वजह से वहां कोई टूट हो। उन्होंने प्रखंड स्तर तक कांग्रेस को मजबूत करने की बात कही थी। महागठबंधन से अलग होने की भी किसी संभावना से इंकार किया था। कहा था कि बिहार में संगठन को मजबूती देने के लिए वो महत्वपूर्ण फैसले लेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

और पढ़ें