पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Corona Cases Latest Update; PMCH Patna Now Issues Blanck RTPCR Report To 9 Year Old Girl

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जान मारने और इस रिपोर्ट में क्या अंतर है?::9 साल की बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टर ने कहा- PMCH ने 5 दिन में RT-PCR रिपोर्ट दी भी तो न निगेटिव लिखा, न पॉजिटिव; सुनने को नहीं हैं तैयार, ऐसे तो मार देंगे

पटना22 दिन पहलेलेखक: मनीष मिश्रा
  • कॉपी लिंक
PMCH की इस गलती से संक्रमण के सुपर स्प्रेड को कोई नहीं रोक सकता है। - Dainik Bhaskar
PMCH की इस गलती से संक्रमण के सुपर स्प्रेड को कोई नहीं रोक सकता है।
  • पटना मेडिकल कॉलेज में हर दिन कोई न कोई बड़ा कारनामा
  • जिंदा मरीज को मुर्दा बता परिवार वालों को सौंप चुका है दूसरे की डेडबॉडी

पटना मेडिकल कॉलेज ने कोरोना की एक ऐसी जांच रिपोर्ट जारी कर दी है जो न निगेटिव है, न पॉजिटिव। मतलब इस रिपोर्ट में और जान मारने में कोई अंतर नहीं है। 9 साल की बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टर उसकी रिपोर्ट देखकर हैरान रह गए। परिवार वाले जब PMCH में सवाल करने गए तो डांट कर भगा दिए गए। मामला गंभीर और काफी संवेदनशील है, क्योंकि PMCH की इस गलती से संक्रमण के सुपर स्प्रेड को कोई नहीं रोक सकता है। इलाज कर रहे डॉक्टर का कहना है कि यह तो अपराधिक मामला बनता है और इस पर कोई एक्सक्यूज नहीं होना चाहिए। विश्वव्यापी महामारी में इस तरह की गलती संक्रमण का बड़ा फैलाव कर सकती है। डॉक्टर ने ऐसे मामले में स्वास्थ्य विभाग से कार्रवाई की बात कही है।

डॉक्टर ने बुखार के लिए कराया था कोविड

पटना मेडिकल कॉलेज के गेट के सामने ही एनी बेसेंट रोड पर डॉ. शकील की क्लीनिक है। डॉ. शकील ने बताया कि एक 9 साल की बच्ची को परिवार वाले उनकी डिस्पेंसरी पर इलाज के लिए लाए। कोरोना के संदिग्ध लक्षण के कारण डॉ. शकील ने कोविड जांच कराने की राय दे दी। मरीज के परिवार वाले जब मंगलवार को रिपोर्ट लेकर आए तो देखकर दंग रह गए। रिपोर्ट में बड़ी गलती थी जो इस कोरोना काल में अक्षम्य है। इस एक गलती से बड़ा खतरा हो सकता है। इससे न सिर्फ डॉक्टर-हॉस्पिटल परेशान हो सकता है. बल्कि पूरा समाज तबाह हो सकता है। अब सवाल पटना मेडिकल कॉलेज की रिपोर्ट की विश्वसनीयता पर है।

डॉक्टर शकील का कहना है कि यह रिपोर्ट हत्या से कम नहीं है। इस रिपोर्ट को निगेटिव मानकर संक्रमित मरीज समाज में बड़ा खतरा पैदा कर सकता है। वह न सिर्फ डॉक्टर के यहां इलाज करा सकता है बल्कि पूरे एरिया, शहर और जिला में कोरोना का संक्रमण फैला सकता है। ऐसे मामलों में जिम्मेदारों को गंभीर सजा होनी चाहिए जिससे भविष्य में ऐसे मामले नहीं आए और PMCH की विश्वसनीयता कायम रह सके।

पटना मेडिकल कॉलेज कर चुका है कई बड़ा खेल

पटना मेडिकल कॉलेज की यह पहली मनमानी नहीं है। जिंदा मरीज को मुर्दा बताकर उसके परिवार वालों को दूसरी डेड बॉडी सौंपने का भी काम कर चुका है। यही PMCH ने संक्रमित मरीज की एंटीजन निगेटिव रिपोर्ट पर छोड़ दिया था, जबकि RT-PCR की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। कोविड काल में PMCH में कई ऐसे बड़े मामले सामने आ चुके हैं। कोविड वार्ड में आए दिन संक्रमितों के परिवार वाले मनमानी का आरोप लगाते हैं। लेकिन इसके बाद भी सुधार नहीं होता है। PMCH की जांच में तरह तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

और पढ़ें