• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Corona News Update; Eldest Daughter Cremated Covid Infected Mother Herself Wearing PPE Kit In Araria

अररिया में कोरोना के क्रूरतम चेहरे की तस्वीर:पिता चार दिन पहले मरे, अब मां भी चली गई; बेटी ने खुद गड्ढा खोद मां को दफनाया

अररिया6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतका की बड़ी पुत्री सोनी कुमारी ने पीपीई किट पहन अपनी मां के शव को गड्ढे में डाल उनका अंतिम संस्कार किया। - Dainik Bhaskar
मृतका की बड़ी पुत्री सोनी कुमारी ने पीपीई किट पहन अपनी मां के शव को गड्ढे में डाल उनका अंतिम संस्कार किया।

कोरोना का कहर अपने चरम पर है। हर दिन ही दिल दहला देने वाली तस्वीरें देखने को मिल रही हैं। ऐसी ही एक तस्वीर अररिया के रानीगंज से आई है। यहां कोविड संक्रमित पति-पत्नी की मौत चार दिनों के अंतराल पर ही हो गई। बीते सोमवार को पहले पति की जान गई, फिर शुक्रवार की सुबह पत्नी ने भी दम तोड़ दिया। इस मामले में सबसे दुखदाई दृश्य तब देखने को मिला जब मां-बाप का साया सर से उठने के बाद बच्चों को शव का अंतिम संस्कार करना पड़ा। दम्पति की दो बेटियां और एक बेटा है। मृतका की बड़ी पुत्री सोनी कुमारी ने पीपीई किट पहन अपनी मां के शव को गड्ढे में डाल उनका अंतिम संस्कार किया।

कोविड संक्रमित मां-पिता के मौत के बाद अब इन बच्चों का सहारा कौन बनेगा?
कोविड संक्रमित मां-पिता के मौत के बाद अब इन बच्चों का सहारा कौन बनेगा?

28 अप्रैल को हुई जांच में दोनों पॉजिटिव मिले

बिशनपुर पंचायत के वार्ड 7 निवासी 40 वर्षीय बीरेंद्र मेहता और उनकी 32 वर्षीय पत्नी प्रियंका देवी की जांच 28 अप्रैल को फारबिसगंज में हुई थी। जांच में दोनों पॉजिटिव पाए गए। पूर्णिया के निजी अस्पताल में दोनों का इलाज चल रहा था। बीते सोमवार को इलाज के दौरान ही बीरेंद्र मेहता की मौत हो गई। उनका अंतिम संस्कार पूर्णिया में ही किया गया। तब पत्नी प्रियंका देवी की स्थिति गंभीर बनी हुई थी।

आर्थिक स्थिति ठीक न रहने और इलाज में काफी रुपए खर्च होने के बाद प्रियंका के परिजन उसे लेकर घर आ गए। गुरुवार की देर रात हालत बिगड़ने लगी। उसे पहले रानीगंज रेफरल अस्पताल फिर फारबिसगंज कोविड केयर अस्पताल ले जाया गया। स्थिति क्रिटिकल होने की वजह से मधेपुरा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। मधेपुरा ले जाने के दौरान शुक्रवार अहले सुबह प्रियंका ने भी दम तोड़ दिया।

कोई न दे सका साथ, बेटी ने खुद गड्ढा खोद दफनाया

कोरोना संक्रमण की वजह से गांव में कोई भी प्रियंका के अंतिम संस्कार में सहयोग करने को राजी नहीं हुआ। ऐसी स्थिति में बड़ी बेटी सोनी कुमारी ने ही किसी तरह गड्ढा खोद और खुद पीपीई कीट पहन मां के शव को दफनाया। अब चिंता इस बात की है कि दो बेटी व एक बेटा किसके सहारे रहेंगे।

खबरें और भी हैं...