पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर इम्पैक्ट, बाढ़ की खबर चलने के बाद जागा प्रशासन:मोतिहारी के बाढ़ प्रभावित इलाके में पहुंचा राहत चिकित्सा शिविर, बाढ़ पीड़ितों को उपलब्ध कराई जा रही दवा

मोतिहारी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाढ़ राहत शिविर। - Dainik Bhaskar
बाढ़ राहत शिविर।

नॉर्थ बिहार की 11 नदियां उफान पर है। मोतिहारी और बेतिया जिले में सबसे ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। मंगलवार को भास्कर डिजिटल ने बाढ़ प्रभावित लोगों के दर्द को बयां किया था। इसके बाद प्रशासन की नींद खुली है । मोतिहारी के बंजरिया में बाढ़ राहत शिविर लगाया गया है।

बाढ़ पीड़ितों को दी गई सांप काटने की सूई और दवा
भास्कर डिजिटल में खबर छपने के बाद कल सोमवार को प्रशासन की ओर से बंजरिया में बाढ़ राहत शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान बाढ़ की कहर से सड़क पर जीवन बसर करनेवाले लोगों सहित अन्य बाढ़ पीड़ितों को सांप काटने की सुई, दवा व कोरोना का टीका लगाया गया। साथ ही उन्हें अन्य जरूरत संबंधी सामान भी उपलब्ध कराया गया। बाकी अन्य चीजों की आपूर्ति करने का भरोसा दिया गया। मौके पर चिकित्सा पदाधिकारी सहित बंजरिया प्रखंड के अन्य वरीय पदाधिकारी मौजूद थे।

बेतिया-मोतिहारी मुख्य पथ में 4 से 5 फीट बह रहा पानी
बेतिया-मोतिहारी मुख्य पथ पर चंचल बाबा मठ से आगे सड़क पर लगभग 4 से 5 फीट पानी बह रहा है। इधर से लगभग सभी गाड़ियों का आना-जाना बंद हो गया है। लोग जानपुल रोड होकर बंजरिया, छपवा, सुगौली आदि स्थानों पर जाने को विवश हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि इस रोड से पानी नहीं बह रहा है। इस सड़क पर भी जानपुल से आगे कई जगहों पर पानी बह रहा है। जिससे गाड़ियों का परिचालन तो हो रहा है, लेकिन चालक को इस दौरान काफी सूझ-बूझ के साथ गाड़ियां निकालनी पड़ रही है।

खबरें और भी हैं...