पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Labour Resources Department Issues Toll Free Number For Migrant Workers Coming Back

बिहार के प्रवासी 18003456138 पर करें कॉल:बाहर से आ रहे तो टॉल फ्री नंबर पर बात कर लें, सरकार की 5 योजनाओं की जानकारी मिलेगी

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार के श्रम संसाधन विभाग ने कई राज्यों में हुए लॉकडाउन को देखते हुए प्रवासी श्रमिकों के लिए टॉल फ्री नंबर जारी किया है। प्रवासी मजदूर 18003456138 टॉल फ्री नंबर पर कॉल कर अधिकारी व कर्मियों से अपने रोजगार सहित अन्य मसलों से जुड़े सवाल पूछ सकेंगे। मजदूरों की सहायता के लिए विभाग ने 30 अप्रैल तक का ड्यूटी रोस्टर जारी किया है। इसमें सभी अधिकारियों के काम को बांटा गया है। यह नंबर 24 घंटे काम करेगा। इस पर बिहार आने वाले श्रमिकों को पूरी जानकारी दी जाएगी और रोजगार व अन्य जरूरतों में उनका सहयोग किया जाएगा।

प्रवासी श्रमिकों के लिए सरकारी स्तर पर हैं यह योजनाएं

  1. भवन निर्माण से जुड़े कामगार अपना निबंधन करा सकते हैं। इसमें राज मिस्त्री, मजदूर, इलेक्ट्रिशियन, प्लंबर आदि हैं। श्रम संसाधन विभाग भवन निर्माण कामगारों को कपड़ा और स्वास्थ्य मद में सालाना 5500 रुपए देता है।
  2. कामगारों को औजार खरीदने के लिए भी सहायता दी जाती है। साथ ही बच्चों की पढ़ाई, श्रमिकों की मौत या अपंगता आदि में भी सरकार की ओर से सहायता दी जाती है।
  3. दोबारा बिहार आने वाले श्रमिकों को सरकार की ओर से बताया जा रहा है कि वे प्रवासी दुर्घटना बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना में किसी प्रवासी की मौत होने पर एक लाख की सहायता दी जाती है, जबकि अपंगता पर 75 हजार रुपये तक सरकार सहायता देती है। इसके अलावा अन्य योजनाओं का लाभ निबंधित श्रमिकों को दिया जाता है।
  4. हुनरमंद कामगारों के लिए भी रोजगार की समुचित व्यवस्था करने की रूपरेखा तैयार की गई है। विगत वर्ष के लॉकडाउन के अनुभवों को ध्यान में रखते हुए इस बार सरकार की तैयारी है कि आने के साथ ही लोगों को उचित रोजगार मिल सके। उन्हें ज्यादा दिनों तक इसके लिए इंतजार नहीं करना पड़े।
  5. बिहार लौटे प्रवासी कामगारों को सरकार की योजनाओं से जोड़ने के लिए श्रम संसाधन विभाग ने वर्ष 2020 में एक पोर्टल विकसित किया था। दोबारा इसी पोर्टल के माध्यम से निबंधन किया जाएगा।
खबरें और भी हैं...