नीतीश के मंत्री की अधिकारी नहीं सुनते, इस्तीफा देंगे!:मदन सहनी ने कहा- जो काम हमारा, वो अफसर कर रहे; पटना में घर और कार मिलने से कोई मंत्री नहीं हो जाता

पटना7 महीने पहले
पटना में मीडिया से बात करते मंत्री मदन सहनी।

बिहार सरकार के समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी इस्तीफा देने की पेशकश कर रहे हैं। सहनी राज्य में अफसरशाही से नाराज चल रहे हैं। मदन सहनी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जो ट्रांसफर-पोस्टिंग मंत्री स्तर पर होना चाहिए था, वो अफसर कर रहे हैं। अब इस अपमान के साथ मंत्री पद पर रहना उचित नही हैं।

सहनी ने कहा कि मेरा इस्तीफा तैयार है, देने जा रहा हूं। पटना में सिर्फ घर ले लेना और गाड़ी ले लेना मंत्री होना नहीं होता है। मैं नीतीश जी के साथ रहूंगा, लेकिन इस्तीफा दे रहा हूं।

विभाग के प्रधान सचिव पर मनमानी का आरोप
समाज कल्याण मंत्री ने यहां तक कह दिया कि नीतीश सरकार में मंत्रियों की कोई पूछ नहीं है। अब मेरे पास इस्तीफे के अलावा कोई चारा नहीं है। विभाग के प्रधान सचिव अतुल कुमार पर मंत्री ने आरोप लगाते हुए अपनी व्यथा बताई है। कहा कि सरकार में अफसरशाही हावी हो गई है। चार साल से एक ही जगह जमे हैं, अब तक क्या किया, यह किसी को मालूम नहीं।

24 घंटे में ताबड़तोड़ 1800 से अधिक हुई ट्रांसफर-पोस्टिंग
बिहार में जून महीने की ताबड़तोड़ ट्रांसफर-पोस्टिंग शुरू हो गई है। बीते 24 घंटे में अलग-अलग विभागों से 1804 ट्रांसफर-पोस्टिंग हो चुकी है। 7 विभागों में हुई इस ट्रांसफर-पोस्टिंग में अंचलाधिकारी से लेकर इंजीनियर्स तक का तबादला हुआ है। आनेवाले 24 घंटों में और कई विभागों की ट्रांसफर-पोस्टिंग लिस्ट जारी होनी है। जून का महीना सरकारी कर्मचारियों और पदाधिकारियों के लिए ट्रांसफर का महीना होता है। यही वजह है कि इस दौरान सचिवालय में भी हलचल बढ़ जाती है।

विधायक कर रहे चहेते अफसरों के ट्रांसफर की सिफारिश
भास्कर ने 29 जून को ही बताया था कि ज्यादातर विधायक इन दिनों सचिवालय के चक्कर काट रहे हैं। वे सिफारिश लेकर मंत्रियों के पास जा रहे हैं। विधायक अपने चहेते अफसरों की पोस्टिंग अपने क्षेत्र में करवाना चाहते हैं। उनके फेवरेट अफसर होने का मतलब है, उनकी जाति वाला अफसर। पैरवी करने वालों के पहुंचने का आलम यह है कि इससे परेशान ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार सचिवालय छोड़ क्षेत्र की ओर निकल गए हैं।

नीतीश सरकार को परेशानी में डालने वाले आज के दूसरे नेता
मंत्री मदन सहनी आज की तारीख में दूसरे ऐसे नेता हैं, जिन्होंने नीतीश सरकार को मुश्किल में डाल दिया है। इससे पहले आज BJP विधायक ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू ने कहा है कि मंत्रियों ने अफसरों और कर्मियों के तबादलों में जमकर घूस खाई है। उन्होंने कहा है कि जदयू के ज्यादातर मंत्रियों ने नीतीश कुमार के डर से पैसा नहीं लिया है, लेकिन भाजपा के मंत्रियों ने तबादलों के लिए जमकर पैसा लिया है।

विधायक ज्ञानेंद्र के धमाके का VIDEO देखें, कहा- BJP के 80% मंत्री घूसखोर

खबरें और भी हैं...