• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Mosque; No Muslim In This Nalanda Village, But 5 Times Namaz (Muslim Prayer)

इस मस्जिद की रखवाली करते हैं हिंदू:नालंदा के माड़ी गांव में कोई मुस्लिम नहीं, पर पांचों वक्त होती है अजान; शादी में सबसे पहले मजार पर माथा टेकते हैं लोग

नालंदाएक महीने पहले
मस्जिद में कुल 5 टाइम की अजान टेप रिकॉर्डर के माध्यम से ग्रामीण बजाते हैं।

नालंदा के माड़ी गांव में एक ऐसी मस्जिद है, जहां की रखवाली और देखभाल हिंदू कर रहे हैं। इस मस्जिद के प्रति हिंदू की भी उतनी ही आस्था है, जितनी की मुस्लिम लोगों की। गांव में एक भी मुस्लिम नहीं है। शादी के दौरान भी लोग सबसे पहले मजार पर माथा टेकते हैं। उसके बाद ही शादी-विवाह के रस्म को आगे बढ़ाया जाता है।

मस्जिद में कुल 5 टाइम की अजान टेप रिकॉर्डर के माध्यम से ग्रामीण बजाते हैं। महीने भर से यह अजान अभी बंद है, क्योंकि गांव के जिन 3 लोगों (हिंदू) ने इसकी जिम्मेदारी ली थी, वो रोजगार की तलाश में दूसरे राज्य गए हुए हैं। गांव में कुल 500 घर हैं, जिसमें कुल 100 घरों में मुस्लिम परिवार रहते थे। सभी रोजगार की तलाश में गांव छोड़ दूसरी जगह चले गए। अभी भी मुस्लिम परिवार समय-समय पर अपने गांव आते हैं।

शादी के दौरान भी लोग सबसे पहले मजार पर माथा टेकते हैं।
शादी के दौरान भी लोग सबसे पहले मजार पर माथा टेकते हैं।

गांव के बुजुर्ग जानकी पंडित ने बताया कि इस गांव को कभी भी दंगे की आंच नहीं आने दी। दोनों समुदाय के लोग बड़े ही अदब से इस गांव में रहते थे। मस्जिद में मौजूद एक पत्थर को लेकर बुजुर्ग ने कहा कि अगर गांव में किसी को गलफुली रोग होता है, तो वह मस्जिद में मौजूद पत्थर को रगड़ कर इस में पानी डाल कर अपने गालों पर लगा लेते हैं। इससे उनका यह रोग ठीक हो जाता है।

रिपोर्ट: सूरज कुमार।

खबरें और भी हैं...