पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब डरा रहा डायरिया:गया में डायरिया की चपेट में एक ही गांव के दर्जनों लोग; बिशुनपुरा के लोग दहशत में

गया8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शेरघाटी अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती डायरिया के मरीज। - Dainik Bhaskar
शेरघाटी अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती डायरिया के मरीज।

गया में कोरोना के बाद अब डायरिया लोगों को सता रहा है। शेरघाटी अनुमंडल क्षेत्र के बिशुनपुरा गांव में दर्जन से अधिक लोग डायरिया की चपेट में आ चुके हैं। सभी को अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है। इसलिए गांव में दहशत का माहौल है। एक ही गांव के इतने लोगों के चपेट में आने से लोगों को भय सताने लगा है। शेरघाटी अनुमंडलीय चिकित्सा प्रभारी डॉ. उदय कुमार ने बताया कि प्रखंड के बिशुनपुरा गांव के एक दर्जन से अधिक लोग बीमार हो गए हैं। सभी का इलाज अनुमंडलीय अस्पताल में किया जा रहा है। मरीजों की कोरोना जांच भी करवाई गई है।

उन्होंने बताया कि कभी-कभी कोरोना के कारण भी मोशन में दिक्कत आती है, जिसकी वजह से शरीर का सारा पानी निकल जाता है। इस बात की पुष्टि के लिए मेडिकल टीम बिशुनपुरा गांव गई है। अभी तक रिपोर्ट नहीं मिली है, लेकिन हमलोग स्थिति को ऑब्जर्व कर रहे हैं।

डायरिया की चपेट में आए ये-
बलिराम कुमार (15 साल), सरस्वती कुमारी (6 साल), माना कुमार (6 साल), सलिराम कुमार (5 साल), छोटू कुमार (15 साल), अलत (9 साल), गोलू कुमार (8 साल), सन्नी कुमार (10 साल), रमेश कुमार (18 साल), अमित कुमार (2 साल), जयराम मांझी (35 साल), तेतरी देवी (50 साल), सरस्वती देवी (15 साल) नीतीश कुमार (8 साल), चम्पा कुमारी (15 वर्ष) के अलावा अन्य लोग भी बीमार हैं। वहीं, डाक्टर का कहना है कि डायरिया दूषित पानी और दूषित खाने की वजह से होता है। बीमार पड़े लोगों से इस बात की जानकारी ली जाएगी। इसके बाद बीमारी को लेकर विस्तृत रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग को भेजी जाएगी।

खबरें और भी हैं...