CNG वाहन मालिकों के लिए अच्छी खबर:जून तक पटना शहर में 5 CNG स्टेशन और खुल जाएंगे, अभी 8 हैं; बिहटा-बिक्रम में भी तैयारी

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पटना जिले में शहर और प्रखंड स्तर तक 20 स्टेशन लगाने का है लक्ष्य।- फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
पटना जिले में शहर और प्रखंड स्तर तक 20 स्टेशन लगाने का है लक्ष्य।- फाइल फोटो

राजधानी में CNG ऑटो व कार मालिकों की दिक्कतें जल्द दूर होंगी। पटना के राजेन्द्र नगर, पटना सिटी, फुलवारी शरीफ, मसौढ़ी और बेउर बाइपास इलाके में एक-एक CNG स्टेशन जून तक बनकर तैयार हो जाएगा। फिलहाल पटना के कंकड़बाग और दीदारगंज में एक-एक स्टेशन चालू किया गया है। इस तरह पटना में अब कुल आठ CNG स्टेशन हो गए हैं। आगे बिहटा और बिक्रम में भी एक-एक स्टेशन बनाने की बात चल रही है। बिहार में CNG स्टेशन लगाने और सप्लाई का काम देख रही कंपनी 'गेल (GAIL) इंडिया' ने पटना जिले में शहर और प्रखंड स्तर तक 20 स्टेशन लगाने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए मार्च 2022 तक का वक्त निर्धारित किया है।

चार-पांच किमी के दायरे में होगा एक CNG स्टेशन

गेल के अनुसार कुछ दिनों बाद ही पेट्रोल पंप की तरह CNG स्टेशन भी शहर में दिखेंगे। विभिन्न इलाकों में चार से पांच किलोमीटर के दायरे में एक स्टेशन होगा। इससे लोगों को स्टेशनों पर लगने वाली लंबी कतारों से भी मुक्ति मिलेगी। पटना शहर, बाइपास सहित नेशनल हाईवे के विभिन्न सड़कों पर स्थित सभी CNG स्टेशन 24 घंटे खुले रहेंगे। पटना सिटी, दानापुर, डाकबंगला चौराहा, अनिसाबाद, फुलवारी शरीफ, सगुना और ट्रांसपोर्ट नगर के अलावा अन्य सभी मुख्य सड़कों पर भी स्टेशन खोलने की कवायद चल रही है।

पटना में अभी हैं आठ CNG स्टेशन

पटना में अभी आठ CNG स्टेशन चालू हैं। ये हैं - ऑटो केयर (बेली रोड), सिटी फ्यूल (टोल प्लाजा), सोनाली (ट्रांसपोर्ट नगर), नौबतपुर, रघुनाथ (बेली रोड), नवनीत (सगुना मोड़)। इसके अलावा हाल ही में कंकड़बाग और दीदारगंज में एक-एक स्टेशन चालू किया गया है। यहां से हर दिन करीब 22 हजार किलो से अधिक CNG की सप्लाई होती है।

प्रखंड स्तर तक स्टेशन खुलेंगे, नहीं करना पड़ेगा 20 किमी का सफर

राजधानी में शहर से लेकर प्रखंड स्तर तक CNG की डिमांड बढ़ गई है। मसौढ़ी, बिहटा, विक्रम, पुनपुन, फतुहा सहित अन्य प्रखंडों के लोग CNG कार या ऑटो ले रहे हैं, लेकिन इन जगहों पर अभी रिफिलिंग स्टेशन नहीं हैं। इस वजह से लोगों को परेशानी होती है। ऐसे में CNG लेने के लिए 15-20 किमी सफर तय कर बाइपास या सगुना मोड़ पहुंचते हैं। गेल के अधिकारी शहर के विभिन्न इलाकों के अलावा प्रखंड स्तर तक भी सर्वे कर चुके हैं। पेट्रोल पंप मालिकों से CNG स्टेशन खोलने के लिए बातचीत चल रही है।

खबरें और भी हैं...