पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News; 800 People Of East Champaran Village Denied Corona Vaccination Fearing Death

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सूई से मर गए तो कौन जिम्मेदारी लेगा?:पूर्वी चंपारण के एक गांव में 800 लोगों को जान का डर, दिन भर बैठकर लौट आ रही वैक्सीनेशन टीम, कोई नहीं जा रहा

मोतिहारी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सरकार शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक कर रही है। आमजन वैक्सीन ले भी रहे हैं। इसी बीच यह चौंकाने वाली खबर बिहार के पूर्वी चंपारण जिले से आई है। - Dainik Bhaskar
सरकार शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक कर रही है। आमजन वैक्सीन ले भी रहे हैं। इसी बीच यह चौंकाने वाली खबर बिहार के पूर्वी चंपारण जिले से आई है।

कोरोना महामारी से पूरा देश त्राहिमाम कर रहा है। सरकार शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए लोगों को लगातार जागरूक कर रही है। आमजन जागरूक होकर वैक्सीन ले भी रहे हैं। इसी बीच एक चौंकाने वाली खबर पूर्वी चंपारण जिले से आई है। यहां आठ सौ से अधिक लोगों ने कोविड वैक्सीन लेने से इंकार कर दिया है। वजह बताई है कि 'कहीं सुई सेट नहीं किया और मर गए तो कौन जिम्मेदारी लेगा?'

यह लोग संग्रामपुर प्रखंड के मंगलापुर गांव के वार्ड चौदह के रहने वाले हैं। मंगलवार को इनके वैक्सीनेशन के लिए गई टीम दिनभर बैठकर शाम में बैरंग वापस हो गई। टीम ने इस बात की सूचना स्थानीय PHC के अधिकारियों और BDO दृष्टि पाठक को दी। PHC से अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को लोगों को समझाने के लिए भेजा गया, लेकिन कोई असर नहीं हुआ। सभी ने दो टूक शब्दों में वैक्सीन लेने से इनकार कर दिया।

गांव से दिनभर बैठकर वापस हो गई वैक्सीनेशन टीम।
गांव से दिनभर बैठकर वापस हो गई वैक्सीनेशन टीम।

मन में बैठा मर जाने का भय

वैक्सीनेशन टीम के कर्मियों ने बताया कि उक्त वार्ड में यादव समाज के लोगों की जनसंख्या अधिक है। सुबह जब टीम पहुंची तो आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 155 पर वैक्सीनेशन के लिए लोगों को बुलाया गया। घंटो बाद भी जब कोई वैक्सीन लेने नहीं पहुंचा तो स्वास्थ्य कर्मी घर-घर जाकर पूछने लगे। लोगों ने एक स्वर में जवाब दिया कि हमलोग वैक्सीन नहीं लेंगे। कर्मियों ने लाख समझाया कि इससे बीमारी फैलती नहीं, बल्कि रुकती है, लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं हुआ।

टीम में शामिल आंगनबाड़ी सेविका सुप्रिया कुमारी और सहायिका बबीता देवी का घर उसी वार्ड में है। उन दोनों ने बताया कि यहां के लोग ठेठ किसान और पशुपालक हैं। इनके भीतर यह शंका और भय बैठ गया है कि वैक्सीन लेने के बाद लोग मर जाते हैं। इसी कारण कुछ भी कहने के बाद भी कोई वैक्सीन नहीं ले रहा है।

जनप्रतिनिधि ने भी समझाया, लेकिन लोग नहीं माने

वैक्सीन नहीं लेने की जानकारी मिलने के बाद BDO दृष्टि पाठक ने पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया प्रतिनिधि ओमप्रकाश कुमार यादव को लोगों को समझाने भेजा। ओमप्रकाश ने भी वहां जाकर लोगों को समझाया, लेकिन कोई असर नहीं हुआ। अंत मे पूरी टीम वापस चली आई।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

और पढ़ें