• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Bihar News: Big Decision Of Private Schools Due To Corona, Private Schools Will Not Be Closed From May 23

जब तक पूरा नहीं होगा सिलेबस, गर्मी की छुट्‌टी नहीं:सरकारी स्कूल 23 मई से होंगे बंद, प्राइवेट में सिलेबस पूरा होने के बाद

पटना6 महीने पहले
प्रतीकात्मक तस्वीर।

कोरोना के कारण बंद रहे स्कूल अब सिलेबस पूरा करने में जुटे हैं। 23 मई से गर्मी की छुट्‌टी को लेकर वो तैयार नहीं है। स्कूलों ने फैसला किया है कि सिलेबस पूरा करने के बाद ही गर्मी की छुट्‌टी होगी। सरकारी स्कूलों में 23 मई से 14 जून तक गर्मी की छुट्‌टी को लेकर तैयारी चल रही है, लेकिन प्राइवेट स्कूल अपने अनुसार शेड्यूल तैयार कर रहे हैं। स्कूलों ने अपने हिसाब से अलग-अलग तैयारी की है, लेकिन पहला फोकस बच्चों के भविष्य को देखते हुए सिलेबस पूरा करने को लेकर है।

पोल में हिस्सा लेकर खबर पर अपनी राय दे सकते हैं।

सरकारी स्कूलों में 23 मई की तैयारी

बिहार के सरकारी स्कूलों में 23 मई से गर्मी की छुट्‌टी को लेकर तैयारी की जा रही है। पूर्व निर्धारित समय के अनुसार 23 मई से लेकर 14 जून तक गर्मी की छुट्‌टी करने का फैसला लिया गया है। इस दौरान सभी सरकारी स्कूलों में गर्मी की छुट्‌टी को लेकर बंदी रहेगी। हालांकि अभी तक इस पर शिक्षा विभाग की तरफ से कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। शिक्षा विभाग का कहना है कि जिलों से अलग अलग आदेश जारी कर छुट्‌टी की घोषणा की जाती है। अब तक पटना में भी शिक्षा विभाग की तरफ से कोई आदेश नहीं जारी किया गया है और प्रशासन भी इस दिशा में कोई निर्देश नहीं दिया है।

स्कूलों ने कहा कोरोना से पिछड़ा है कोर्स

प्राइवेट स्कूलों का कहना है कि कोरोना के चक्कर में कोर्स काफी पिछड़ा हुआ है। यह बच्चों के भविष्य का सवाल है। गर्मी से बचाव जरुरी है लेकिन बच्चों का कोर्स उससे भी जरुरी है। अगर कोर्स पूरा नहीं होगा तो समस्या होगी। ऐसे में बच्चों के भविष्य को देखते हुए अभी छुट्‌टी को लेकर कोई प्लानिंग नहीं है। पूरा जाेर कोर्स को पूरा करने में लगाया जा रहा है। पटना सहित राज्य के अन्य जिलों के स्कूल संचालकों का कहना है कि अलग अलग स्कूलों का अपना शेड्यूल है। इस शेड्यूल के हिसाब से गर्मी की छुट्‌टी की जाएगी। जहां कोर्स पूरा होगा वहां उस हिसाब से छुट्‌टी की जाएगगी।

जब प्रचंड गर्मी थी तो नहीं किया बंदी

प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद श्मायल अहमद का कहना है कि सरकार बच्चों के भविष्य को ध्यान में रखकर काम करे। स्कूल और गार्जियन दोनों बच्चों के भविष्य को लेकर गर्मी की छुट्‌टी से पहले कोर्स को पूरा कराने में जुटे हैं। गार्जियंस भी चाहते हैं कि छुट्‌टी से पहले उनका कोर्स पूरा कर लिया जाए। श्मायल अहमद का कहना है कि 23 मई से गर्मी की छुट्‌टी को लेकर सरकार की तैयारी है लेकिन इस दौरान प्राइवेट स्कूलों में बच्चों का सिलेबस पूरा नहीं होगा। ऐसे में पहली प्राथमिकता बच्चों के कोर्स को पूरा कराने को लेकर है।

श्मायल अहमद का कहना है कि जब प्रचंड गर्मी थी तो स्कूल नहीं बंद किए गए अब तो थोड़ी राहत है तो स्कूलों को कोर्स पूरा करने का मौका देना चाहिए, क्योंकि गार्जियन भी यही चाहते हैं कि बच्चों का भविष्य नहीं खराब हो। वह कोर्स पूरा करके ही गर्मी की छुट्‌टी करें। प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन का कहना है कि 23 मई से 14 जून तक गर्मी की छुट्‌टी की तैयारी है। अलग अलग जिले से आदेश जारी होता है। फिलहाल 23 से गर्मी की छुट्‌टी पहले से निर्धारित है, लेकिन प्राइवेट स्कूल इस डेट पर स्कूल नहीं बंद कर रहे हैं। प्राइवेट स्कूलों का कहना है जब गर्मी अधिक पड़ रही थी तब स्कूल नहीं बंद किया गया और अब वह सिलेबस पूरा करने के बाद ही स्कूल बंद करेंगे।

खबरें और भी हैं...