सिपाही भर्ती परीक्षा में हंगामा:देर से पहुंचे अभ्यर्थियों को नहीं मिली इंट्री तो दीवार फांदकर अंदर घुस गए; छपरा-भागलपुर से मुन्नाभाई गिरफ्तार

पटना/भागलपुर10 महीने पहले

बिहार में सिपाही भर्ती की लिखित परीक्षा दो पालियों में आयोजित की गई। छपरा के सेंट्रल स्कूल से पहली पाली में एक मुन्नाभाई को पुलिस ने गिरफ्त्तार किया है। भागलपुर के राजकीय बालिका इंटर विद्यालय से द्वितीय पाली में दूसरा मुन्नाभाई अरेस्ट हुआ। इस दौरान पेपर लीक की ख़बरें भी आती रहीं। हालांकि केन्द्रीय चयन पर्षद को ऐसी शिकायत कहीं से नहीं मिली है। पर्षद के OSD कमलाकांत प्रसाद ने भास्कर को बताया कि राज्य भर के 611 सेंटर पर 6 लाख 30 हजार परीक्षार्थी बुलाए गए थे जिसमें 90 फीसदी उपस्थिति रही। कदाचार के जुर्म में 60 की गिरफ्तारी की गई है। पेपर लीक कहीं भी नहीं हुआ है और न ही किसी सेंटर पर परीक्षा रद्द की गई है।

छपराऔर भागलपुर में मुन्नाभाई पकड़ाए

छपरा के सेंट्रल स्कूल में जांच के दौरान एकमा के BDO ने एक परीक्षार्थी को ब्लूटूथ डिवाइस के साथ पकड़ा। वह इसके माध्यम से चोरी कर रहा था। छात्र की पहचान नंदपुर सारण निवासी 23 वर्षीय मो। राशिद हुसैन के रूप में हुई है। उधर भागलपुर के राजकीय बालिका इंटर विद्यालय में द्वितीय पाली में वीक्षक ने एक मुन्नाभाई को पकड़ लिया। जांच-पड़ताल के बाद उसकी पहचान नौगछिया के बीहपुर थाना क्षेत्र के मोहनपुर गांव निवासी अमर सिंह का पुत्र आकाश उर्फ सुमित कुमार के रूप में की गई। आकाश 2017 में ही आधुनिक इतिहास से स्नातक कर चुका है। वह अपने गांव के ही अम्बिका सिंह के पुत्र दिव्यांशु कुमार के बदले परीक्षा दे रहा था। आकाश ने परीक्षा केंद्र के बाहर घूम रहे दिव्यांशु की पहचान भी करा दी, जिससे वह भी उसी समय पकड़ा गया।

देर से पहुंचे अभ्यर्थियों का हंगामा

भागलपुर में राजकीय बालिका इंटर विद्यालय और शेखपुरा के DM उच्च विद्यालय केंद्र पर देर से पहुंचे अभ्यर्थियों ने जमकर हंगामा किया। पहली पाली के अभ्यर्थियों को सुबह 9:40 बजे प्रवेश करना था। इसके बाद गेट बंद कर दिया गया। इस कारण गेट के बाहर करीब 100 परीक्षार्थी बवाल करने लगे। स्कूल के गेट को जोड़-जोड़ पीटने लगे। 4 दर्जन से अधिक परीक्षार्थी गेट फांदकर अंदर चले गए। प्रशासन द्वारा सुरक्षा कड़ी कर दी गई। स्कूल प्रबंधन का कहना है कि 9.40 बजे के बाद इंट्री नहीं है। यह जानकारी अभ्यर्थियों को पहले ही दे दी गई थी।

इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और अभ्यर्थियों को समझाने-बुझाने की कोशिश करने लगे। पुलिस के समझाने के बावजूद भी अभ्यर्थियों नहीं माने और हंगामा करते रहे है। पुलिस ने हंगामा कर रहे अभ्यर्थियों को खदेड़ दिया। तब जाकर मामला शांत हुआ।

शेखपुरा के DM हाई स्कूल में गेट फांदकर सेंटर के अंदर जाते परीक्षार्थी।
शेखपुरा के DM हाई स्कूल में गेट फांदकर सेंटर के अंदर जाते परीक्षार्थी।
इंट्री बंद होने के बाद गेट फांद कर अंदर जाते दिखे परीक्षार्थी।
इंट्री बंद होने के बाद गेट फांद कर अंदर जाते दिखे परीक्षार्थी।
आक्रोशित परीक्षार्थियों को समझाती पुलिस।
आक्रोशित परीक्षार्थियों को समझाती पुलिस।
लेट होने के कारण गर्भवती सुजाता को नहीं मिली इंट्री।
लेट होने के कारण गर्भवती सुजाता को नहीं मिली इंट्री।

जाम के कारण कई परीक्षार्थी देर से पहुंचे

राजकीय बालिका इंटर विद्यालय पर 9:50 बजे पहुंची सुजाता कुमारी को इंट्री नहीं मिली है। सुजाता गर्भवती है, इस बात की जानकारी जब स्कूल प्रबंधन को मिली तो एक महिला शिक्षिका उसके पास आई। शिक्षिका सुजाता को समझाया कि तुम गर्भवती हो, अधिक यहां खड़े रहना तुम्हारे लिए हानिकारक है। इंट्री का समय खत्म हो चुका है। सुजाता ने काफी गुहार लगाई लेकिन किसी ने उसकी एक नहीं सुनी। उसने कहा वह 15 दूर मोहनपुर गांव से आई है। रास्ते में जाम में फंस गई इसलिए लेट हो गई। सुजाता के अलावा कई अभ्यर्थियों ऐसे थे जिन्हें जाम के कारण सेंटर पर पहुंचने में लेट हुआ। इधर, प्रवेश करने के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का अनुपालन करना अनिवार्य किया था लेकिन पटना, भागलपुर और गया समेत कई जिलों में इसकी धज्जियां उड़ती दिखी।

पटना के मिलर हाई स्कूल के पास सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते अभ्यर्थियों।
पटना के मिलर हाई स्कूल के पास सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते अभ्यर्थियों।
भागलपुर के राजकीय बालिका इंटर विद्यालय के बाहर बिना मास्क के ही नजर आए अभ्यर्थियों।
भागलपुर के राजकीय बालिका इंटर विद्यालय के बाहर बिना मास्क के ही नजर आए अभ्यर्थियों।

सिपाही बनने वालों को गणित ने उलझाया
सिपाही भर्ती परीक्षा में मिलर स्कूल आए मनोज राय ने बताया गणित के सवालों ने काफी उलझाया। सवाल को साल्व करने में काफी समय लगा। GK और GS में प्राचीन इतिहास के सवाल अधिक रहे। साइंस के सवाल भी काफी परेशान करने वाले थे। कोरोना पर भी सवाल किया गया था। इसमें फ्रंटलाइन वर्करों के बारे में भी पूछा गया था। पटना के राजेंद्र नगर के रहने वाले सुमित का कहना है कि परीक्षा में मैथ और साइंस में अभ्यर्थियों को काफी परेशानी हुई। उनका कहना है कि जितने भी अभ्यर्थियों से बात हुई सभी ने गणित और विज्ञान के सवालों को कठिन बताया है।

राजधानी में 43 केंद्र बनाए गए हैं

पटना में 43 केंद्र बनाए गए हैं, जिसमें 24000 परीक्षार्थी शामिल होंगे। भागलपुर में कुल 30 केंद्र बनाए गए हैं जिसमें 13 हजार 80 परीक्षार्थी, पूर्णिया में 18 परीक्षा केंद्रों पर 5482 परीक्षार्थी, बेगूसराय में 13 परीक्षा केंद्रों पर 10361 परीक्षार्थी, समस्तीपुर में 33 परीक्षा केंद्रों पर 11000 परीक्षार्थी शामिल होंगे। राज्य के सभी जिलों में यह परीक्षा आयोजित हुई है। इसे लेकर सभी जिलों में प्रशासन द्वारा तैयारी पहले ही पूरी कर ली गई थी।

भागलपुर में राजकीय बालिका इंटर विद्यालय के बाहर बाइक पर बैठकर पुर्जा बनाते अभ्यर्थियों।
भागलपुर में राजकीय बालिका इंटर विद्यालय के बाहर बाइक पर बैठकर पुर्जा बनाते अभ्यर्थियों।
मोबाइल से देखकर चिट बनाते अभ्यर्थियों ।
मोबाइल से देखकर चिट बनाते अभ्यर्थियों ।
गया में जगजीवन कॉलेज के बाहर परीक्षा से पहले मोबाइल पर रिवीजन करते दिखे अभ्यर्थियों।
गया में जगजीवन कॉलेज के बाहर परीक्षा से पहले मोबाइल पर रिवीजन करते दिखे अभ्यर्थियों।

अब सिपाही भर्ती में भी जुगाड़ की तलाश

मैट्रिक, इंटर की परीक्षा के बाद परीक्षार्थी अब सिपाही भर्ती की लिखित परीक्षा से पहले चोरी का जुगाड़ करते दिखे। भागलपुर के राजकीय बालिका इंटर विद्यालय परीक्षा केंद्र के सामने कुछ परीक्षार्थी कागज में चिट बनाते दिखे तो कुछ मोबाइल पर वायरल हुए प्रश्नपत्र के उत्तर को कागज उतारते दिखे। परीक्षार्थी के साथ आए अभिभावक भी उनकी मदद करते दिखे। मोबाइल अंदर ले जाने की इजाजत नहीं है लेकिन परीक्षार्थी चिट-पुर्जा को अपना आखिरी सहारा मानकर चल रहे हैं। हालांकि, परीक्षा केंद्र के गेट पर ही परीक्षार्थियों की सघन तलाशी भी ली जा रही है।

पहली पाली 10 से 12 और दूसरी 2 से 4 बजे तक

परीक्षा का आयोजन दो पाली में होगा। पहली पाली सुबह 10 बजे से 12 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक की होगी। परीक्षा शुरू होने के 20 मिनट पहले परीक्षा केंद्र का मुख्य गेट बंद कर दिया जाएगा। यानी पहली पाली के परिक्षार्थियों को सुबह 9.40 बजे से पहले और दूसरी पाली के परिक्षार्थियों को दोपहर 1.40 के पहले परीक्षा केंद्र पर प्रवेश करना अनिवार्य है। इसके बाद गेट बंद कर दिया जाएगा। परीक्षा शुरू होने के समय या देर से आने वाले परिक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र पर प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। परीक्षा केन्द्रीय चयन पार्षद (सिपाही भर्ती) पटना द्वारा आयोजित की जा रही है। विधि व्यवस्था कायम रखने के लिए सभी केंद्रों पर प्रर्याप्त संख्या में मजिस्ट्रेट और पुलिस पदाधिकारी के साथ पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गयी है।

स्टील के बक्से में सील होगा प्रश्नपत्र
प्रश्नपत्र स्टील के बक्से में सील रहेगा। उसे परीक्षा केन्द्रों पर केन्द्राधीक्षक व सहायक केन्द्राधीक्षक चार वीक्षक, स्टेटिक मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में सील बक्से की जांच करेंगे। सही पाए जाने पर ही उसे खोलना है। स्टेटिक मजिस्ट्रेट को निर्देश दिया गया है कि वे परीक्षा केन्द्र पर परीक्षा हॉल में लगातार निरीक्षण करेंगे। किसी भी परीक्षार्थी को ई-प्रवेश पत्र एवं फोटो पहचान के बिना किसी भी परिस्थिति में परीक्षा केंद्र में परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षा को कदाचार मुक्त एवं स्वच्छ वातावरण में संपन्न कराने के लिए चार स्तरीय दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है।

10 मिनट पहले बदला जा सकेगा प्रश्नपत्र, उसके बाद नहीं

परीक्षार्थियों को निर्देश दिया गया है कि वे परीक्षा केन्द्रों पर प्रश्न पत्र मिलते ही उसे ठीक से जांच ले। अगर किसी भी तरह की प्रश्नपत्र में त्रुटि हो तो उसे 10 मिनट के अंदर बदल लें। प्रशासन ने परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए परीक्षा केन्द्रों पर निरीक्षण करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही परीक्षा केंद्रों पर मापदंड के अनुसार वीक्षकों की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया गया है। किसी भी केन्द्र पर परीक्षार्थी द्वारा ब्लूटूथ का प्रयोग करते हुए पाया गया तो कानूनी कार्रवाई होगी। साथ ही फर्जी परीक्षार्थी उपलब्ध कराने वाले गिरोह की पहचान कर कार्रवाई करने को कहा गया है। इस पर भी परीक्षा के दौरान नजर रखी जाएगी।