• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News; Darbhanga Blast Update, Both The Terrorists Arrested From Hyderabad Were Brought To Patna, Appeared In NIA Court

दरभंगा ब्लास्ट केस, पाकिस्तान से जुड़ रहे तार:हैदराबाद से गिरफ्तार सगे भाई इमरान और नासीर को NIA पटना लेकर पहुंची, 2 घंटे 42 मिनट तक ATS ऑफिस में पूछताछ

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इमरान और नासिर दोनों सगे भाई हैं। एनआईए ने दोनों को हैदराबाद से गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
इमरान और नासिर दोनों सगे भाई हैं। एनआईए ने दोनों को हैदराबाद से गिरफ्तार किया है।

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले में हैदराबाद से गिरफ्तार दोनों आरोपी आतंकी इमरान और नासिर को शुक्रवार को पटना लाया गया। एयरपोर्ट पर विशेष सुरक्षा व्यवस्था के साथ इन्हें बाहर लाया गया। दोनों आरोपी सगे भाई हैं। इन्हें NIA ने हैदराबाद से गिरफ्तार किया था। 2 घंटे 42 मिनट ATS ऑफिस में नासिर और इमरान मलिक से बिहार ATS के अधिकारियों ने पूछताछ की। सूत्रों की मानें तो ब्लास्ट की प्लानिंग से लेकर उसे अंजाम तक पहुंचाने के बारे में अधिकारियों ने पूछताछ की गई है।

गुरुवार को NIA ने हैदराबाद के न्यू मेलापल्ली इलाके में छापेमारी की थी, जहां से IED बम बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले विस्फोटकों से संबंधित कई तरह के दस्तावेज हाथ लगे थे। ये छापेमारी बुधवार को गिरफ्तार किए गए मो. इमरान मलिक और उसके भाई नासिर मलिक के ठिकाने पर हुई थी। दोनों के तार लश्कर-ए-तैयबा के जरिए लीम ऊर्फ टुईंया और इकबाल काना से जुड़े हुए हैं।

यह भी पढ़ें: दरभंगा ब्लास्ट में गिरफ्तार भाइयों के फौजी पिता बोले- मेरे बेटों ने RAW और IB के लिए पाकिस्तान में काम किया

पटना एयरपोर्ट पर ATS जवान।
पटना एयरपोर्ट पर ATS जवान।

पटना पहुंचने के बाद दोनों आतंकी भाइयों को ATS ऑफिस ले जाया गया है। यहां इमरान और नासिर से ATS बिहार के अधिकारियों ने पूछताछ की। इसके बाद NIA की टीम और ATS स्वात दस्ते के साथ इमरान और नासीर को लेकर NIA कोर्ट लेकर जाएगी।

दोनों के तार लश्कर-ए-तैयबा के जरिए लीम ऊर्फ टुईंया और इकबाल काना से जुड़े हुए हैं। इकबाल काना का सीधा कनेक्शन हाफिज सईद से है, इसलिए पार्सल ब्लास्ट का पाकिस्तान से जोड़कर देखा जा रहा है। NIA और ATS के अफसर नासिर और इमरान से पूछताछ कर रहे हैं। इसके बाद कई खुलासे होने की उम्मीद है।

NIA की टीम ने इन दोनों के घर और उस जगह को खंगाला, जहां पर ये दिखावे के लिए कपड़े का कारोबार कर रहे थे। सूत्रों की मानें तो दोनों भाइयों की गिरफ्तारी के बाद हुई इस छापेमारी में एक बड़ा सबूत NIA टीम के हाथ लगा था। इनके एक ठिकाने से उस केमिकल का अंश मिला है, जिसका इस्तेमाल दरभंगा पार्सल ब्लास्ट में हुआ था। इसे और पुख्ता करने के लिए बरामद केमिकल के अंश की CFSL भेजा गया है। वहां उसकी जांच कराई जाएगी। दरभंगा स्टेशन पर ब्लास्ट के बाद FSL की तरफ से जुटाए गए सबूत और उस 100 ml की शीशे की बोतल से मिलान किया जाएगा, जिसमें केमिकल ब्लास्ट हुआ था।

खबरें और भी हैं...