मुजफ्फरपुर में ASI पर यौन शोषण का आरोप:महिला सिपाही ने कहा- पहले नशीला पदार्थ सुंघाकर रेप किया, फिर खींच ली अश्लील तस्वीरें, तीन साल से कर रहा शोषण

मुजफ्फरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टाउन थाना में तैनात ASI जितेंद्र पासवान को SSP ने लाइन हाजिर कर दिया है। - Dainik Bhaskar
टाउन थाना में तैनात ASI जितेंद्र पासवान को SSP ने लाइन हाजिर कर दिया है।

मुजफ्फरपुर में तैनात एक महिला सिपाही ने टाउन थाने के ASI जितेंद्र पासवान पर यौन शोषण का गम्भीर आरोप लगाया है। पीड़िता ने राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष, राज्य महिला आयोग और SSP को आवेदन देकर इसकी शिकायत की है। इसमें ASI पर शादी का झांसा देकर तीन साल तक यौन शोषण करने का आरोप लगाया है।

उन्होंने आरोप लगाया है - 'तीन साल पहले कांटी थाना में सशत्र बल में तैनात थी। उसी दौरान ASI भी मुंशी के पद पर कार्यरत थे। कांटी थाना में दोनों की पहचान हुई थी। इसके बाद ASI की गलत नजर उस पर पड़ी। उसने पीछा करना शुरू कर दिया। बेवजह दबाव डालकर परेशान करने लगा। इसके बाद पीड़िता ने MIT के समीप किराए पर कमरा लेकर रहना शुरू कर दिया। यहां भी ASI ने पीछा किया। अचानक कमरे पर आया और कुछ सुंघा कर अचेत कर दिया। इसके बाद दुष्कर्म किया। जब इसका विरोध किया तो मांग में सिंदूर डाल दिया और कहने लगा कि मैं अविवाहित हूं, तुमसे शादी करूंगा। अचेत अवस्था में ही उसने अश्लील तस्वीर भी खींच ली और वीडियो भी बना लिया था। इसके बाद लगातार संबंध बनाता रहा।'

शादीशुदा होने का पता लगा तो बनाने लगी दूरी
बताया जा रहा है कि इस बीच ASI ने अपना कमरा बदल लिया और शहर में ही दाउदपुर कोठी मोहल्ले में रहने लगा। तभी पीड़िता को उसके शादीशुदा होने और अन्य कई लड़कियों से संबंध होने की जानकारी मिली। इसके बाद पीड़िता उससे दूरी बनाने लगी। पीड़िता ने इस संबंध का विरोध करना शुरू कर दिया। इससे वह आगबबूला हो गया।

जान से मारने की नीयत से फायरिंग का आरोप
महिला सिपाही के विरोध को वह बर्दाश्त नहीं कर सका। उसके कमरे पर पहुंचा और जान से मारने की नीयत से फायरिंग भी की। हालांकि, पीड़िता उससे मिन्नत करने लगी तब उसकी जान बची। बाद में कॉल कर उससे माफी भी मांगी और भविष्य में ऐसा नहीं करने की बात कही।

बर्बाद करने की दी धमकी
पीड़िता ने बताया- 'उसका संबंध एक वरीय पुलिस अधिकारी के रीडर से भी है। वह बर्बाद कर देगा। माफी मांगने के बाद भी ASI प्रताड़ित करने लगा। तंग आकर मैंने कमरा छोड़ दिया। इसके बाद मेरी पोस्टिंग जिले के दूसरे थाने में हो गई। तीन माह पूर्व ASI वहां भी पहुंच गया। मारपीट कर जबरन संबंध बनाया। उसका वीडियो और फ़ोटो वायरल करने की धमकी तक दे डाली। मेरी FIR भी दर्ज नहीं की जा रही है और वरीय अधिकारियों से मिलने भी नहीं दिया जाता है। मानसिक और शारीरिक रूप से काफी असहज महसूस कर रही हूं।'

ASI लाइन हाजिर: SSP
मामला सामने आने के बाद SSP जयंतकांत ने तत्काल प्रभाव से ASI जितेंद्र पासवान को टाउन थाना से हटाकर लाइन हाजिर कर दिया है। भास्कर से बातचीत में उन्होंने बताया- 'मामला गम्भीर है। DSP हेडक्वार्टर और महिला थानेदार को जांच का आदेश दिया गया है। इंटरनल कमेटी का भी गठन किया गया है। पीड़िता का मेडिकल भी कराया जाएगा। अगर वह FIR कराना चाहती है तो करा सकती है। जांच रिपोर्ट के आधार पर ASI पर कार्रवाई होगी।'

मामला बहुत गम्भीर है : IG
तिरहुत रेंज के IG गणेश कुमार ने कहा- 'मामला बहुत गम्भीर है। पीड़िता सीधे मेरे पास आकर आवेदन दे सकती है। वह जहां चाहे वहां FIR दर्ज करा सकती है। अगर ASI दोषी पाए गए तो उस पर निश्चित रूप से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इससे पुलिस की छवि धूमिल होती है।'

ASI ने कहा, फंसा रही है
इधर, ASI जितेंद्र पासवान ने कहा- 'महिला सिपाही का आरोप बेबुनियाद है। वह फंसा रही है। उसके पास जो भी साक्ष्य है, उसे प्रस्तुत करे। अगर फायरिंग की बात कह रही तो उसका भी साक्ष्य उसे देना होगा।'

खबरें और भी हैं...