• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News; Prohibition On Wearing Commodities In RJD, State President Said That Those Who Wear Jeans Can Never Become A Leader

जींस पहनने वालों की RJD में खैर नहीं!:प्रदेश अध्यक्ष ने कहा- जींस पहनने वाले कभी राजनीति नहीं कर सकते, हमारी पार्टी गरीबों और संघर्ष करने वालों की है

पटना2 महीने पहले
इनकम टैक्स चौराहे पर बैठ कर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते RJD के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह।

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) में जींस पहनने पर रोक लगा दी गई है। इसके लिए कोई लिखित आदेश जारी नहीं किया गया है, लेकिन प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने सार्वजनिक रूप से जब यह कहा कि जींस पहनने वाले कभी राजनीति नहीं कर सकते तो इसका मतलब यही लगाया जा रहा है कि जींस पहनने वालों की RJD में खैर नहीं।

जातीय जनगणना की मांग को लेकर हो रहे प्रदर्शन के दौरान सिंह ने युवा कार्यकर्ताओं से कहा- 'हमारी पार्टी गरीबों की पार्टी है, किसानों की पार्टी है, संघर्ष करने वालों की पार्टी है। जींस पहनते हो, कभी नेता नहीं बन पाओगे। जो धरना पर नहीं बैठ रहे हैं वह RSS के कार्यकर्ता हैं और हमारे जुलूस में घुस आए हैं'। उन्होंने कहा- 'फिल्म की शूटिंग करने आए हो क्या ? अगर राजनीति करने आए हो तो धरना पर बैठो। आंदोलन करना सीखो, यह युवा नेताओं के लिए ट्रेनिंग का समय है। हमारा अधिकार छीना गया है इसलिए हमें लंबी लड़ाई लड़नी है'।

RJD की ओर से जाति जनगणना कराने, मंडल आयोग की शेष सिफारिशों को लागू करने और आरक्षण के दायरे में आने वाली बैकलॉग सीटों को भरने की मांग को लेकर शनिवार को जुलूस निकाला गया। इनकम टैक्स चौराहे पर जुलूस को पुलिस ने रोक दिया और जगदानंद सिंह सड़क पर धरने पर बैठ गए, लेकिन पार्टी के कई युवा नेताओं को सड़क पर बैठाने के लिए उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ी। उन्होंने नसीहत देनी शुरू कर दी और कहा- 'सिर्फ फोटो खिंचवाने के चक्कर में रहते हो, बैठ जाओ नहीं तो हम मानेंगे कि आप सब राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ता नहीं हैं'। जगदानंद सिंह के साथ धरना पर, अब्दुलबारी सिद्दीकी, उदय नारायण चौधरी, वृषिण पटेल, श्याम रजक, आलोक मेहता आदि कई वरिष्ठ नेताओं के साथ अन्य कार्यकर्ता भी बैठे।

जगदानंद सिंह पूर्व मंत्री रहे हैं। अनुशासन में रहते हैं और उम्मीद करते हैं कि पार्टी के बाकी कार्यकर्ता भी अनुशासन का पालन करें। उन्होंने पार्टी दफ्तर में भी अनुशासन लाया है और संगठन के स्तर पर भी यह दिखता है। हालांकि, इससे कई बार कार्यकर्ताओं को दिक्कत भी होती है। रघुवंश बाबू ने तो RJD कार्यालय को DM का कार्यालय तक कह दिया था। पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव ने पार्टी के स्थापना दिवस पर जगदानंद सिंह पर निशाना साधा था। एक बार तो उन्होंने जगदानंद सिंह की जगह नया प्रदेश अध्यक्ष लाने की मांग तक उठा दी थी।

खबरें और भी हैं...