• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News; Rumors Of Minister Mukesh Sahani Resignation As He Met Governor Fagu Chauhan Today

मुकेश सहनी के इस्तीफे की खबर:राजभवन के बाहर लगी भीड़ तो बाहर निकल मंत्री ने कहा - अभी इरादा नहीं, लेकिन जरूरत पर देर भी नहीं करेंगे

पटना9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजभवन के बाहर अपनी गाड़ी में मीडिया से बात करते मंत्री। - Dainik Bhaskar
राजभवन के बाहर अपनी गाड़ी में मीडिया से बात करते मंत्री।
  • मंत्री के इस्तीफे की अफवाह से राजनीतिक गलियारों में बढ़ गई थी हलचल

बिहार सरकार के पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री व VIP पार्टी के मुखिया मुकेश सहनी ने इस्तीफा दे दिया! इस खबर ने आज दोपहर से राजनीति की गलियों में हलचल बढ़ा दी। वह शाम को राजभवन पहुंचे तो यह खबर जंगल में आग की तरह फैली। देखते-देखते राजभवन के बाहर मीडिया की भीड़ जमा हो गई। राजभवन में 35 मिनट बिताने के बाद जब बाहर आए तो मीडिया का पहला सवाल यही था, क्या आपने इस्तीफा दे दिया है? इस सवाल पर वह चौंके भी नहीं, क्योंकि सुबह से ही सरकार से उनके टशन को लेकर चर्चा चल रही थी। मुकेश ने कहा - इस्तीफे का इरादा अभी तो नहीं...लेकिन निषाद समाज की बात आई तो इसमें जरा भी देर नहीं करेंगे।

सहनी ने राज्यपाल फागु चौहान से मिल निषाद समाज को आरक्षण के मामले में एक ज्ञापन सौंपा।
सहनी ने राज्यपाल फागु चौहान से मिल निषाद समाज को आरक्षण के मामले में एक ज्ञापन सौंपा।

ऐसे उड़ी इस्तीफे की अफवाह

राजभवन से बाहर आने के बाद मुकेश सहनी ने इस्तीफे से इनकार कर दिया है। अब सवाल यह है कि अगर यह अफवाह है तो किसने उड़ाई? मुकेश ने कोई प्रेस वार्ता नहीं बुलाई थी तो मीडिया को प्रेस वार्ता की सूचना क्यों दी गई? ऐसे कई सवाल इस पूरे मामले में चर्चा का विषय हैं। CM नीतीश कुमार के कार्यक्रम के पहले से निर्धारित समय पर ही मुकेश सहनी के प्रेस कांफ्रेंस की सूचना दी गई थी। इतना ही नहीं, नीतीश कुमार के कार्यक्रम के दौरान ही यह भी खबर आई कि मुकेश मंत्री पद से इस्तीफा देने राजभवन पहुंच गए हैं।

काफी दबाव में मीडिया से की बात

मुकेश के इस्तीफे की खबर जंगल में आग की तरह फैल गई। CM का कार्यक्रम छोड़ मीडिया कर्मी राजभवन पहुंच गए। काफी देर तक इंतजार करने के बाद राजभवन से उनकी गाड़ी तेज रफ्तार में निकली। वह रुकना नहीं चाह रहे थे, लेकिन मीडियाकर्मी जब गाड़ी के आगे खड़े हो गए तो उन्हें गाड़ी रोकनी पड़ी। इसके बाद भी वह बात करने को तैयार नहीं हुए। काफी दबाव के बाद बात करने पर मुकेश ने कहा कि निषाद समाज के आरक्षण को लेकर मिलने गया था। इस्तीफे के सवाल पर बोले कि निषाद समाज के साथ कभी नाइंसाफी नहीं होने देंगे। कहा - सरकार अच्छे से चला रहे हैं, जो जगह मिलना चाहिए मिला है।

चर्चा में दम नहीं, जगह पर डिसीजन लेंगे

मुकेश सहनी ने कहा - इस्तीफे की चर्चा में कोई दम नहीं है। इस्तीफा जिस दिन देना होगा, सोचेंगे नहीं। जगह पर डिसीजन लेंगे और सबको बताकर इस्तीफा दे देंगे। लेकिन अभी ऐसा कुछ नहीं है। हम बिहार सरकार में काफी सहज महसूस कर रहे हैं। कोई किंतु-परन्तु नहीं है, लेकिन समाज के साथ कुछ भी गलत होगा तो इस्तीफा देने में देर नहीं होगी। असल में सहनी केंद्र सरकार के उस निर्णय से नाराज दिखे, जिसमें सरकार ने मल्लाह जाति को एससी (अनुसूचित जाति) की सूची में शामिल करने के बिहार सरकार के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है।

VIP पार्टी के कार्यक्रम के दौरान मुकेश सहनी।
VIP पार्टी के कार्यक्रम के दौरान मुकेश सहनी।

आंदोलन की तैयारी में कोरोना का खतरा भूले

देश में कोरोना के खतरे को लेकर अलर्ट है। बिहार सरकार ने भी सुरक्षा को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी है, लेकिन सरकार के मंत्री ही इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। इस पूरे घटनाक्रम से पहले मुकेश सहनी ने अपने सरकारी आवास पर पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई थी। इसमें सभी जिलों के जिलाध्यक्ष और अन्य कार्यकर्ता शामिल हुए, लेकिन किसी के चेहरे पर मास्क नहीं दिखा। न ही सोशल डिस्टेंसिंग दिखी। यह लापरवाही आम आदमी के लिए भारी पड़ सकती है।

खबरें और भी हैं...