• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News; Sushil Modi And Other BJP Leaders Meet Indigo Station Manager Rupesh Singh Family In Chhapra

पटना का इंडिगो मैनेजर मर्डर केस अनसुलझा:रूपेश के परिवार से मिले सुशील मोदी, बेटी बोली- पापा को मारने वाले पकड़े गए तो मम्मी उन्हें गोली मारेंगी

छपरा2 वर्ष पहले
सुशील मोदी इंडिगो मैनेजर रूपेश के परिवार से मिलने पहुंचे थे। रूपेश की बेटी आराध्या ने जो बातें कहीं, उन्हें सुनकर सुशील मोदी ने उसे गले से लगा लिया।

अंकल... पापा को मारने वालों को पकड़ा जाएगा तो पहली गोली मम्मी मारेंगी, प्लीज। ये गुस्सा है 8 साल की बच्ची का और ये बात उसने कही है बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी से। पटना में इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या के मामले में अभी कोई ठोस कामयाबी पुलिस को नहीं मिली है। रूपेश के परिवार से मिलने सुशील मोदी उनके पैतृक गांव संवरी बक्शीजी गए थे।

भावुक सुशील मोदी ने रूपेश की बेटी को गले से लगा लिया
सुशील मोदी से रूपेश की बेटी आराध्या ने कहा कि मम्मी को देखकर मैं रो नहीं रही हूं। मम्मी इस बात पर रो रही है कि पापा दिन-रात लोगों की मदद में लगे रहते थे, फिर उन्हें गोली क्यों मार दी गई? मुझे, मेरे भाई और मम्मी को अनाथ कर दिया। बच्ची के इस बयान पर सुशील मोदी भी भावुक हो गए और उन्होंने उसे गले लगा लिया। सुशील मोदी ने कहा कि इस मामले में तेजी से जांच चल रही है और जल्द ही हत्यारे पुलिस की गिरफ्त में होंगे। उन्होंने रूपेश के पिता शिवजी को भी ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि जल्द सजा दिलाने के लिए स्पीडी ट्रायल चलाया जाएगा।

रूपेश की पत्नी बोलीं- अइसन चेहरा लेके कइसे जीयम हो

सुशील मोदी से मुलाकात पर रूपेश की पत्नी नीतू बिलखकर रोने लगीं। बोलने लगीं कि अइसन चेहरा लेके कइसे जीयम हो। उन्होंने कहा कि बेटी पटना के नाट्रेडम एकेडमी और बेटा रेडिएंट पब्लिक स्कूल में पढ़ते हैं। दोनों बेटे-बेटियों की पढ़ाई इसी स्कूल में हो।

रूपेश के भाइयों नंदेश्वर सिंह और दिनेश कुमार सिंह ने मोदी से कहा कि हमें न्याय दिलाया जाए। पत्नी और बच्चों के भविष्य के लिए नौकरी की गारंटी दी जाए, जिससे उनका भविष्य आसान हो सके। नंदेश्वर सिंह ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की है।

रूपेश के पिता व अन्य परिजनों से मिलते भाजपा नेता।
रूपेश के पिता व अन्य परिजनों से मिलते भाजपा नेता।

13 करोड़, 3 बाइक-6 अपराधी, UP का सिम, बेगूसराय का शूटर और CCTV…5 सुराग ले जाएंगे किलर तक

12 जनवरी को हुई थी रूपेश की हत्या
12 जनवरी को रूपेश को कुछ लोगों ने सचिवालय के करीब गोलियों से भून दिया था। उस वक्त रूपेश अपनी कार में थे। पहले उन्हें दूर से गोलियां मारी गई थीं और उसके बाद पास से। हाथ और सीने पर गोलियां लगी थीं। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के जरिए भी हत्यारों की तलाश कर रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ अहम सुराग भी हाथ लगे हैं, लेकिन इस बारे में पुलिस अभी कुछ नहीं बोल रही है, क्योंकि इससे जांच पर असर पड़ सकता है। इस मामले में 200 लोगों से पूछताछ की गई है। अभी तक हत्या का मकसद सामने नहीं आया है।

खबरें और भी हैं...