• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News; Teachers' Unions Changed Teacher's Day Into A Sit in Day, Youth Raised Anti government Slogans

पटना में शिक्षक दिवस पर धरना:शिक्षक और अभ्यर्थियों ने किया प्रदर्शन, बोले- नियुक्ति पत्र देने की तारीख बताए सरकार, आमरण अनशन और आत्मदाह की मांगी परमीशन

पटना2 महीने पहले
धरने पर बैठा शिक्षक संघ।

शिक्षक दिवस पर शिक्षक बनने की तैयारी कर रहे और शिक्षक के लिए चयनित युवाओं ने धरना दिया। गर्दनीबाग में TET शिक्षक संघ और STET शिक्षक संघ के बैनर तले युवाओं ने प्रदर्शन किया। दोनों ही संगठनों ने आसपास ही धरने का आयोजन किया था। इस दौरान सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई। धरने में पूरे प्रदेश से बड़ी संख्या में युवा शामिल हुए।

TET शिक्षक संघ की मांगः अभी तक सर्टिफिकेट की जांच शुरू नहीं हुई है
TET शिक्षक संघ के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह ने कहा कि जिन लोगों का चयन शिक्षक नियोजन में हो गया है और चयनित अभ्यर्थियों के नाम भी NIC पर आ गए हैं उन सभी को दो महीने बाद भी नियुक्ति पत्र नहीं दिया गया है। सरकार का कहना है कि सर्टिफिकेट जांच के बाद नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। सच यह है कि अभी तक सर्टिफिकेट की जांच शुरू नहीं हुई है। केवल बरगलाया जा रहा है और कहा जा रहा है कि समय पर नियुक्ति पत्र देंगे। उनका कहना है कि सरकार नियुक्ति पत्र देने की समय सीमा बताए। साथ ही जिनका चयन अब तक नहीं हो पाया है उनकी काउंसिलिंग कराई जाए। अभी भी 47 हजार पद खाली पड़े हुए हैं।

STET शिक्षक संघ की मांगः सरकार विज्ञापन से छेड़छाड़ न करे
STET शिक्षक संघ के अनिल कुमार ने कहा कि सरकार विज्ञापन के साथ खिलवाड़ कर रही है और किसी भी सूरत में सरकार को यह नहीं करने दिया जाएगा। राज्यपाल का आदेश है विज्ञापन इसलिए इसे रद्द नहीं किया सकता। नॉट मेरिट और मेरिट के बीच युवाओं को बांट रही है सरकार। उन्होंने कहा कि मांग पूरी नहीं हुई तो 15 दिन के अंदर आमरण अनशन किया जाएगा। अगर सरकार आमरण अनशन की परमीशन नहीं देती है तो आत्मदाह की परमीशन दे दे। उन्होंने कहा कि सरकार ने कानून को हाथ में लिया तो हम भी कानून को हाथ में ले लेंगे। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि किसी को कानून हाथ में लेने की जरुरत नहीं है। हम सत्याग्रह से जीतेंगे। उन्होंने गोपाल सिंह नेपाली की कविता सुनाकर युवाओं का हौसला बढ़ाया।

खबरें और भी हैं...