पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News; Vaccination Of People Above 18 Years Of Age Started In Bihar; People Broke Covid Protocol At Many Centers

बिहार में 18+ का वैक्सीनेशन:पहले दिन पोर्टल और व्यवस्था ने किया परेशान; फिर भी 2526 सेंटरों पर 79238 ने ली वैक्सीन की पहली डोज

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मधुबनी के वाटसन स्कूल परिसर में बनाए गए टीकाकरण स्थल पर लोगों की उमड़ी भीड़। - Dainik Bhaskar
मधुबनी के वाटसन स्कूल परिसर में बनाए गए टीकाकरण स्थल पर लोगों की उमड़ी भीड़।

बिहार में रविवार से शुरू हुए 18+ के टीकाकरण में रिकॉर्ड टूट गया। राज्य में पहले दो चरणों की अपेक्षा तीसरे चरण में वैक्सीनेशन का प्रतिशत अधिक रहा है। अगर सर्वर और वैक्सीनेशन स्पॉट को लेकर समस्या नहीं रही होती तो टीकाकरण का आंकड़ा और अधिक होता। राज्य में कुल 2526 वैक्सीनेशन सेंटरों पर टीकाकरण अभियान चल रहा है। पटना में मात्र 14 केंद्रों पर ही टीकाकरण हो सका है। आज कुल 1376 लोगों को वैक्सीन लगाई गई है। यह लक्ष्य का 88% रहा।

आंकड़ों में समझें टीकाकरण का पहला डोज

  • स्टेट में रविवार को टीके का पहला डोज लेने वालों की संख्या- 88365
  • इनमें 18 से 44 वर्ष तक को लगा पहला डोज- 79238
  • 45 वर्ष से ऊपर के लाभार्थियों को लगी पहली डोज- 8052

बिहार में अब तक 8038535 का वैक्सीनेशन

प्रदेश में अब तक कुल 8038525 का टीकाकरण हुआ है। इसमें रविवार को कुल 100067 लोगों का वैक्सीनेशन शामिल है। अब तक प्रदेश में 6407531 लोगों ने वैक्सीन की पहली खुराक ली है, इसमें 18 से 44 साल के 79238 लोग शामिल हैं। 45 साल के उपर के 5503244 लोग अब तक प्रदेश में पहली डोज ले चुके हैं। वहीं राज्य में अब तक 1630994 लोगों काे वैक्सीन की दूसरी डोज लगी है। इसमें 45 वर्ष से उपर वालों की संख्या 1083583 है।

बेगूसराय में वैक्सीनेशन के लिए हंगामा

पहले ही दिन पोर्टल और व्यवस्था में भारी कमियां सामने आई हैं। कई केंद्रों पर युवकों की भीड़ उमड़ पड़ी। बेगूसराय में वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे लोगों ने हंगामा किया। मौके पर मौजूद लोग कलाभवन में टीकाकरण को लेकर उत्पन्न अव्यवस्था से खिन्न थे। दरअसल, पूर्व से निर्धारित सदर अस्पताल की जगह दिनकर कला भवन को वेक्सिनेशन सेंटर बना दिया गया। तैयरियां पूरी नहीं हो पाई थी। कुछ देर बाद प्रशासन ने आक्रोशित लोगों को समझा-बुझाकर शांत करवाया। इसके बाद लोग माने और वैक्सीनेशन शुरू हुआ।

दिनकर कलाभवन परिसर में हंगामा करते लोग।
दिनकर कलाभवन परिसर में हंगामा करते लोग।

डिप्टी CM बोले- सोमवार से वैक्सीनेशन में आएगी तेजी

न्यू गार्डिनर रोड हॉस्पिटल में डिप्टी CM तारेकेश्वर प्रसाद वैक्सीनेशन अभियान के दौरान पहुंचे। उनके साथ BJP विधाक अरुण सिंहा और दीघा विधायक संजीव चौरसिया भी मौजूद थे। डिप्टी CM वैक्सीन लेने आए लोगों से बातचीत की। डिप्टी CM ने कहा है कि बिहार में 2526 और पटना में 14 जगह टीकाकरण हो रहा है। उन्होंने कहा कि सोमवार से सेंटर की संख्या बढ़ाई जाएगी। इसके बाद 18+ के टीकाकरण में तेजी आएगी।

न्यू गार्डिनर रोड हॉस्पिटल में निरीक्षण करते पहुंचे डिप्टी CM तारकेश्वर प्रसाद।
न्यू गार्डिनर रोड हॉस्पिटल में निरीक्षण करते पहुंचे डिप्टी CM तारकेश्वर प्रसाद।
भागलपुर सदर अस्पताल में टीकाकरण के लिए पहुंचे लोग।
भागलपुर सदर अस्पताल में टीकाकरण के लिए पहुंचे लोग।
मधुबनी के रहिका PHC में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते लोग।
मधुबनी के रहिका PHC में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते लोग।

प्रशासन ने वैक्सीनेशन के साथ-साथ कोविड प्रोटोकॉल का भी पालन करने की अपील कई थी। लेकिन कई केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग धज्जियां उड़ती देखी गई। हालांकि, इस दौरान स्वास्थ्यकर्मी लोगों से कोविड गाइडलाइन के पालन करने की अपील कर रहे थे। कई सेंटरों पर लोगों को कतारबद्ध कर दिया गया और उनसे उनकी बारी आने का इंतजार करने के लिए कहा गया।

वैक्सीनेशन के बाद सेल्फी प्वाइंट पर सेल्फी लेते युवा।
वैक्सीनेशन के बाद सेल्फी प्वाइंट पर सेल्फी लेते युवा।
न्यू गार्डिनर रोड हॉस्पिटल में वैक्सीन लेता युवक।
न्यू गार्डिनर रोड हॉस्पिटल में वैक्सीन लेता युवक।
जमुई के सिकंदरा PHC में 18+ वालों की लगी भीड़।
जमुई के सिकंदरा PHC में 18+ वालों की लगी भीड़।

सेंटर पर जाने से पहले यह जान लें

लाभार्थी अपना रजिस्ट्रेशन स्लिप, अपना पंजीकृत मोबाइल, जिस पर SMS आया है, उसे अपने साथ रखें। ताकि टीकाकरण की प्रक्रिया में कोई बाधा नहीं आने पाए। चार अंकों वाले सिक्योरिटी कोड को भी सुरक्षित रखें। सिक्योरिटी कोड को टीका लगाने वाले या कोड की पुष्टिकरण करने वाले को टीका लगाने से पहले बता दें। यह कोड डिजिटल प्रमाणपत्र बनाने के लिए भी जरूरी है, जो टीका लगने के बाद दिया जाता है। वैक्सीन लगने के बाद लाभार्थी को एक मैसेज आएगा, जो इस बात का प्रमाण होगा कि टीकाकरण की प्रक्रिया सफलतापूर्वक पूरी हो गई है और डिजिटल प्रमाण पत्र बन गया है। अगर किसी को SMS नहीं मिलता, तो उसे संबंधित टीकाकरण केंद्र से संपर्क करना होगा।

खबरें और भी हैं...