'मैं गरीबों की आवाज बना, यही मेरा अपराध हो गया':उपचुनाव में हार पर बोले लालू- निडर रहिए, सरकार तो हमारी ही बनेगी

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लालू प्रसाद राजद कार्यालय में पत्थर की लालटेन के लोकार्पण के बाद रजत जयंती समारोह के मंच पर आए। लालू ने जब बोलना शुरू किया तो उसके पहले उनके बेटे तेजस्वी यादव ने उनका माइक थोड़ा दुरुस्त किया। लालू प्रसाद ने कार्यक्रम में इस बात को नोटिस किया कि महिलाओं को आगे बैठने के लिए जगह नहीं दी गई है। उपचुनाव में हार पर लालू प्रसाद ने कहा कि जब मैं बिहार का मुख्यमंत्री बना तो सबसे बड़ा काम किया सामाजिक न्याय दिलाने का किया यही मेरा अपराध हो गया। जनता से कहा कि, आप निडर रहिए सरकार हमारी ही बनेगी।

कार्यक्रम में लालू ने पीछे खड़ी महिलाओं को आगे बैठने के लिए जगह दी।
कार्यक्रम में लालू ने पीछे खड़ी महिलाओं को आगे बैठने के लिए जगह दी।

लालू ने कहा कि खाट पर लोग को बैठने नहीं दिया जाता था, कान पकड़कर बस से उठा दिया जाता था। एक तवे पर रोटी पक रही थी मैंने उस रोटी को गरीबों की आवाज के सहारे पलट दिया। इस रोटी को पलट देना ही मेरा अपराध हो गया। विरोधी कहने लगे कि मांद से सबको निकाल दिया। अब कहां रुकने वाले लोग हैं।

चुनाव आयोग ने हमें हरिकेन लैंप चुनाव चिन्ह दिया यानी तूफान में भी नहीं बुझने वाला दिया, लालटेन। लालू प्रसाद ने कार्यकर्ताओं के सिर पर हरी टोपी देखकर खुशी प्रकट की। इस अवसर पर राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी, श्याम रजक, उदय नारायण चौधरी, प्रेम कुमार मणि, वृषण पटेल, आलोक मेहता, शक्ति यादव, चित्तरंजन गगन, युवा नेता कारी सोहैब, अरूण कुमार यादव, जेम्स यादव आदि बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

रेलवे जर्सी काउ है इसको अच्छे से रखिएगा मुनाफा देगा
उन्होंने कहा कि मैं जेल में था चुनाव हुआ तो इसमें डाका डाला गया। उनके प्रपंच को हम तोड़ेंगे। आने वाले समय में हम सभी सीटों पर जीतेंगे। उन्होंने कहा कि रेलवे को मैंने मुनाफे तक पहुंचाया। रेलवे जर्सी काउ है इसको अच्छे से रखिएगा तो ये काफी फायदा देगा। लालू प्रसाद ने बताया कि उन्होंने बिहार में कहां-कहां कारखाने बनवाए। उन्होंने कहा कि पटना में जो ब्रिज सब देख रहे हैं सूचना के अधिकार से पता कर लीजिए यह सब मेरा बनवाया है।

लेकिन वे सब डीलिंग देते हैं कि ये बनवा दिया वो बनवा दिया। अभी भी खेत में सीने तक पानी है कैसे गेहूं होगा, धान होगा। कहा कि नरेन्द्र मोदी के अहंकार की हार हुई और किसानों की जीत हुई। समर्थन मूल्य जब तक निर्धारित नहीं होगा किसानों का आंदोलन वापस नहीं होगा।

अभी तबीयत में कसर है, इलाज करा रहा हूं
उन्होंने कहा कि मैंने कहा था कि मैं पटना आऊंगा तो बिहार के हर हिस्से में जाऊंगा लेकिन अभी कसर है, इलाज करा रहा हूं मैं। मेरा मन नहीं लगता बैठे-बैठे। पांच हजार में जीप लिए थे मिलिट्री कोटा से उसको अच्छा से रखे और एक चक्कर आज मार आए। जब हम जीप चलाते थे तो कर्पूरी ठाकुर बोलते थे कि काफी अच्छा चलाता है। वे आराम से चलाने के लिए भी कहते थे।

दरभंगा के कलेक्टर को हम फोन करते रहे गए पर फोन नहीं उठाया
सबसे अंत में लालू प्रसाद ने कहा कि निडर रहिए। सरकार तो हमारी बनेगी ही। कुशेश्वरस्थान और तारापुर में हमारी स्थिति बहुत अच्छी थी लेकिन मंत्री सब पूरा जो दिया गया, साड़ी कपड़ा लत्ता, पैसा बंटवाने लगे। दरभंगा के कलेक्टर को हम फोन करते रह गए पता नहीं किस मेटल का बना हुआ है फोन ही नहीं उठाया।

सरकार कहती है कि हम राशन दिए लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि अनाज सड़ रहा है गरीबों में अनाज बांटिए। यूपीए सरकार के द्वारा अनाज बंटना शुरू हुआ। सरकार कह रही कि हमने बंटवाया, कहां से अनाज लाए, खेती किए हो कभी।

गैस, डीजल, पेट्रोल की कीमत पहले जितनी करो
लालू प्रसाद ने कूकिंग गैस का दाम, डीजल का दाम लोगों से पूछा। कहा कि पांच रुपए कम करने से क्या होगा। रोल बैक करो। जितने पर कीमत थी उतनी पर लाओ। डीजल का दाम बढ़ेगा तो सब चीज का दाम बढ़ेगा।