पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar News; Wife Gave Fire To Husband's Funeral Pyre In Khagadia Fulfilling Last Wish Of Childless Man

पहले बेटियां, अब पत्नी तोड़ रही रूढ़ियां:खगड़िया में पत्नी ने दी पति की चिता को आग, निःसंतान पति की यही थी अंतिम इच्छा

खगड़ियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पति कृष्णानंद मिश्र की चिता को आग देती पत्नी मीना देवी। - Dainik Bhaskar
पति कृष्णानंद मिश्र की चिता को आग देती पत्नी मीना देवी।

शुक्रवार को एक पत्नी ने समाज के बंधन को पीछे छोड़ते हुए अपने पति को मुखाग्नि दी और अंतिम संस्कार किया। खगड़िया के परबत्ता में सियादतपुर अगुवानी पंचायत के राका गांव निवासी कृष्णानंद मिश्र काफी समय से अस्वस्थ चल रहे थे। कोरोना संक्रमण के इस दौर में उनके परिजनों ने पटना में उनका इलाज कराया, लेकिन उनके स्वास्थ्य में सुधार नहीं हुआ। इसके बाद उन्हें उनके पैतृक गांव राका लाया गया, जहां गुरुवार रात को उनका निधन हो गया।

कृष्णानंद मिश्र निःसंतान थे। परिजनों ने बताया कि मृत्यु से पूर्व उन्होंने अपनी अंतिम इच्छा जताते हुए पत्नी से मुखाग्नि लेने की बात कही थी। उनकी इस इच्छा का सम्मान करते हुए उनकी पत्नी मीना देवी ने अगुवानी गंगा घाट पर दर्जनों परिजनों की मौजूदगी मे अंतिम संस्कार के लिए अपने पति को मुखाग्नि दी।

अब तक बेटियां देती थीं पिता को आग, अब...

समाज में आज भी महिलाओं का श्मशान जाकर अंतिम क्रिया में भाग लेना भले ही वर्जित माना जाता है, लेकिन महिलाएं यह साबित करने को तत्पर हैं कि वह हर कदम पर पुरुषों के साथ बराबरी का दर्जा पाने में सक्षम हैं। इससे पहले बेटियों द्वारा ही पिता को मुखाग्नि देने का चलन सामने आया था। हालांकि मृतक के परिजन भी अब इन रूढ़ियों को समर्थन देने से इंकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि रुढ़िवादी परंपराओं में हमारा समाज आज भी जकड़ा हुआ है जिससे अब बाहर निकलने की जरूरत है। समाज में ऐसी परंपराओं का अब कोई स्थान नहीं रह गया है।

लॉकडाउन से कई संबंधी नहीं ले सके अंतिम संस्कार में भाग

मृतक के बड़े भाई तारकेश्वर मिश्र, भतीजा गिरीश चंद्र मिश्र सहित अन्य परिजनों को लॉकडाउन के कारण अंतिम संस्कार में उपस्थित होने का मौका नहीं मिल पाया।

खबरें और भी हैं...