• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Panchayat Election 2021 Date; State Election Commission Preparation On Voter List

निर्वाचन आयोग में आ रहे 3 तरह के आवेदन:पंचायत चुनाव नजदीक आया तो नाम सुधार, बूथ में बदलाव और आरक्षण के आने लगे मामले

पटना8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 24 फरवरी 2021 तक होना है पंचायत चुनाव के लिए मतदाता सूची का मुद्रण
  • दावा-आपत्ति का निराकरण 20 जनवरी से 8 फरवरी तक किया जाना तय

पंचायत चुनाव के लिए मतदाता सूची का मुद्रण 24 फरवरी 2021 तक कर लिया जाएगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने इसकी तैयारी तेज कर दी है। दावा-आपत्ति का निराकरण 20 जनवरी से 8 फरवरी तक किया जाना तय है, लेकिन अभी भी हर दिन 25-30 आवेदन निर्वाचन आयोग में रहे हैं। पंचायत चुनाव सिर पर आते ही तीन तरह के आवेदन सबसे ज्यादा आ रहे हैं। पहला मतदाता सूची में गड़बड़ी को ठीक करने लिए, दूसरा बूथ में बदलाव की मांग के लिए और तीसरा आरक्षण के सवाल पर। ये आपत्ति डाक और मेल से तो आ ही रहे हैं, लोग आवेदन लेकर राज्य निर्वाचन आयोग के ऑफिस भी पहुंच रहे हैं। इन आवेदनों को डायरी पर चढ़ाया जा रहा है फिर कमिश्नर से लेकर बाकी अफसरों तक भेजा जा रहा है। इससे जुड़ा पत्र तैयार कर DM को भेजा जा रहा है।

मतदाताओं के नाम में हेराफेरी का आरोप
शुक्रवार को धनरुआ के कुछ लोग आयोग के ऑफिस पहुंचे। पटना जिले के धनरुआ प्रखंड की मई नेतौल पंचायत के दत्तमई ग्राम के वार्ड संख्या 12,13,14 की मतदाता सूची के प्रारूप प्रकाशन में जान-बूझकर या किसी से प्रभावित होकर मतदाताओं के नाम में हेरफेर करने का आरोप पवन कुमार ने लगाया है। आरोप यह भी है कि कई नामों को विलोपित कर दिया गया है। पत्र में कहा गया है कि पूर्व की तरह मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाए और जो लोग ऑनलाइन मतदाता बने हैं, उनके भी नाम जोड़कर जल्द प्रकाशित किया जाए। आयोग ने आवेदन ले लिया है। इसकी जांच होगी। इसी तरह के आवेदन देने वालों का सिलसिला जारी है।

मतदान केन्द्रों की सूची का अंतिम प्रकाशन 2 मार्च तक
मतदान केन्द्र को लेकर सूची का प्रारूप प्रकाशन और दावे-आपत्तियों की प्राप्ति 28 जनवरी 2021 से 11 फरवरी 2021 तक होना तय किया गया था, लेकिन इससे जुड़े आवेदन भी लगातार आ रहे हैं। इन आपत्तियों का निष्पादन 29 जनवरी 2021 से 13 फरवरी 2021 तक कर लेने का लक्ष्य है। मतदान केन्द्रों की सूची पर आयोग अपना अनुमोदन 17 फरवरी से 24 फरवरी 21 तक कर देगा। संपूर्ण मतदान केन्दों की सूची का मुद्रण 25 फरवरी से एक मार्च 21 तक कर देना है। संपूर्ण मदतान केन्द्रों की सूची का अंतिम प्रकाशन 2 मार्च 21 तक कर लिया जाएगा।

सबसे अधिक पंचायत मुजफ्फरपुर में
अब तक के डाटा के अनुसार बिहार में 8387 पंचायत, 534 ब्लॉक, 101 सब्डिविजन और 114667 वार्ड हैं। गया जिले में सर्वाधिक 24 ब्लॉक हैं। पटना जिला दूसरे नंबर पर है। यहां 23 ब्लॉक हैं। अरवल में सबसे कम 5 ब्लॉक हैं। सबसे अधिक 385 पंचायत मुजफ्फरपुर में हैं। शिवहर में सबसे कम 53 पंचायतें हैं। सबसे अधिक 5597 वार्ड पूर्वी चंपारण जिले में हैं और सबसे कम वार्ड 712 शेखपुरा जिले में है। पंचायतों और वार्डों की संख्या में बदलाव होना है।

खबरें और भी हैं...