• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Panchayat Shikshak Niyojan; Bhaskar Had Raised Question Of Disturbance Now Action Will Be Fast

शिक्षक नियोजन में गड़बड़ी करने वालों पर होगी कार्रवाई:भास्कर ने उठाया था गड़बड़ी का सवाल, कार्रवाई तेज, जांच कर दोषी नियोजन इकाइयों पर होगा एक्शन

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

राज्य में प्राथमिक शिक्षकों के 90762 पदों पर नियोजन चल रहा है। 5 जुलाई से 12 जुलाई के बीच प्रथम चरण की काउंसिलिंग हो चुकी है। इसमें व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी का सवाल दैनिक भास्कर ने 22 जुलाई को उठाया था। भोजपुर जिले के विभिन्न प्रखंडों की ओर से डाली गई सूची में कई तरह की बड़ी जानकारी नहीं थी। जैसे की मेधा अंक ही गायब थे। कई जगह सूची में पिता या पति का नाम ही नहीं था। कई जिलों ने तो सूची ही अपलोड नहीं की थी।

भास्कर पर खबर लिखे जाने के बाद प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने बताया है कि चयन सूची की समीक्षा सूक्ष्मता के साथ की जा रही है। इसे सावधानी के साथ देखा जा रहा है कि चयन सूची में आरक्षण नियमों का पालन किया गया है कि नहीं ? मेरिट लिस्ट में भी काउंसिलिंग के समय के अंक और वास्तविक अंक में अंतर तो नहीं है। ऐसी शिकायतें कई जगहों से मिल रही हैं। रणजीत कुमार सिंह ने बताया कि एक ही कैंडिडेट का नाम दूसरी नियोजन इकाई की सूची में भी दिख रहा है। इसकी जांच हो रही है। DEO और DPO के साथ इसकी समीक्षा की जा रही है। गड़बड़ी पाई गई तो वहां का नियोजन तो रद्द होगा ही साथ ही संबंधित नियोजन इकाई पर कार्रवाई भी तय है। उन्होंने बताया कि अंतिम मेधा सूची NIC पर आज ही अपलोड करने का निर्देश दिया गया है। कुछ जिलों को छोड़ दें तो सभी जिलों ने अंतिम मेधा सूची NIC पर अपलोड कर दी है।

रणजीत कुमार सिंह ने बताया कि जिन नियोजन इकाइयों की काउंसिलिंग बिना मेधा सूची के NIC पर अपलोड की की गई, उसे कैंसिल कर दिया गया है। कहा कि किसी भी तरह की गड़बड़ी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और गड़बड़ करने वालों पर सख्त कार्रवाई भी होगी।

खबरें और भी हैं...