• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Received 149% More Rainfall During 12 To 19th June, Nawada Received Maximum

बिहार का मौसम 2 दिनों तक एक जैसा रहेगा:सभी 38 जिलों में मध्यम, एक-दो जगहों पर भारी बारिश का अनुमान; 12-19 जून के बीच 149% अधिक हुई बारिश

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मानसून समय से पहले आया है और इस कारण से बारिश भी अधिक होगी। - Dainik Bhaskar
मानसून समय से पहले आया है और इस कारण से बारिश भी अधिक होगी।

मौसम विभाग ने राज्य में दो दिनों तक बारिश का अलर्ट किया है। आने वाले दो दिनों तक मौसम में कोई बड़ा बदलाव नहीं होगा। विभाग का कहना है कि झारखंड और उसके सटे भागों पर जो कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ था, वह उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर आगे चलकर दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश एवं उसके आस-पास के क्षेत्रों पर सतह से 1.5 किलोमीटर उंचाई पर स्थित है। इस मौसमी सिस्टम के अगले दो दिनों तक इसी प्रकार बने रहने की संभावना है। इसका परिणाम यह होगा कि पूरे राज्य में मध्यम एवं एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है।

शनिवार को नवादा में 45.5 MM, पटना में 9.8 MM बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार को सुबह 8.30 बजे से लेकर शाम को 5.30 बजे तक पटना में 9.8 MM, गया में 19 MM, नवादा में 45.5 MM और जमुई में 21.5 तथा मधुबनी में 6.5 MM बारिश रिकॉर्ड की गई है। आने वाले दिनों में भी बारिश का यही हाल होगा। ऐसा इस कारण से हो रहा है, क्योंकि मानसून समय से पहले आया है और इस कारण से बारिश भी अधिक होगी।

12 से 19 जून के बीच अब तक 202MM वर्षा

विभाग का कहना है कि समय से पहले मानसून आने से पहले चरण में अच्छी वर्षा हो रही है। मानसून 12 जून को बिहार में प्रवेश किया था। 1 जून से 11 जून तक वर्षा सामान्य की मात्रा में हो रही थी। 37 MM बारिश हुई थी। लेकिन एक जून से लेकर 19 जून तक अपने सामान्य वर्षा से 149 प्रतिशत अधिक है। यानी 12 से 19 जून के बीच अब तक 202MM वर्षा हो चुकी है।

ऐसे बन रहा है बारिश का सिस्टम

मौसम विभाग का कहना है कि वर्षा की मुख्य वजह बिहार में मानसून के प्रवेश करने के समय जो सिस्टम बंगाल की खाड़ी से सटे उड़ीसा तट पर स्थित था, वह दो दिनों पहले तक झारखंड के उपर कम दबाव के क्षेत्र में दिख रहा था। ये सिस्टम आज दक्षिण-पूर्व उत्तर प्रदेश और उससे सटे बिहार के उपर परिलक्षित है। कल झारखंड और उसके सटे भागों पर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ था उत्तर पश्चिम दिशा की ओर आगे चलकर दक्षिण पूर्वी उत्तर प्रदेश एवं उसके आस पास के क्षेत्रों पर सतह से 1.5 किलोमीटर उंचाई पर स्थित है।

खबरें और भी हैं...